Ticker

6/recent/ticker-posts

Corruption of Rural Government : गांव में पार्क और जिम बने नहीं, हो गया था भुगतान।


RTI से खुली पोल : नौगवां गांव में पार्क और जिम बने नहीं, हो गया था लाखों का भुगतान। 

प्रधान, सचिव और जेई ने मिलकर किया 10 लाख का घोटाला, होगी रिकवरी, 

6AM NEWS TIMES : Edited by. Ravindra yadav Lucknow 9415461079,  29, July, 2022 : Fri, 02 : 25 PM

 प्रधान, सचिव और जेई को एक सप्ताह के भीतर नोटिस का  देना था जवाब, नोटिस का समय आज हुआ समाप्त।

अलीगढ़ के गंगीरी ब्लाक के गांव नौगवां में 10 लाख रुपए के घोटाले का मामला सामने आया है। गांव के प्रधान और सचिव ने मिलीभगत करके विकास कार्यों के लिए खर्च होने वाली राशि का गलत तरीके से इस्तेमाल किया। जिसके बाद दोनों को नोटिस जारी किया गया है।

ग्राम प्रधान और सचिव के साथ विकास काम कराने वाले जेई को भी नोटिस दिया गया है। इन सभी को एक सप्ताह के भीतर डीएम के कारण बताओ नोटिस का जवाब देना था। जिसके बाद इनसे इस राशि की वसूली की जाएगी।

डीएम के आदेश पर DPRO ने की थी जांच। 

गंगीरी ब्लाक के नौगावां निवासी सतीश चंद्र ने ग्राम पंचायत में हुए विकास कार्यों पर सवाल उठाया था। उन्होंने सम्पूर्ण समाधान दिवस में डीएम से सारे मामले की शिकायत की। शिकायत के बाद डीएम ने मामले की जांच जिला पंचायती राज अधिकारी ( डीपीआरओ ) को सौंप दी थी।

डीपीआरओ ने 18 जुलाई को ग्राम पंचायत का निरीक्षण किया। जिसमें उन्होंने कई अनियमितताएं पाई थी। जिसके बाद प्रधान किशन लाल यादव, सचिव भूपेंद्र सिंह और निर्माण कार्य कराने वाले जेई सुरेंद्र कुमार के खिलाफ रिपोर्ट सौंपी गई है। इनसे रिकवरी की संस्तुति भी की गई है। जिसके बाद विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

जिम और पार्क बने नहीं हो गया भुगतान। 

डीपीआरओ की जांच में पाया गया कि गांव में 3,17,441 रुपए से जो नाली बनाई गई है। उसे एल टाइप के बजाय यू टाइप में बनवाया गया है। इसे प्रधान के व्यक्तिगत हित में करार देते हुए खर्च हुई राशि की रिकवरी का आदेश दिया गया है।

जांच में पाया गया कि पंचायत भवन के दो कमरों में प्रधान परिवार के जयवीर सिंह ने कब्जा कर भूसा रख रखा है। पंचायत सचिवालय भी नहीं चलता मिला।



प्राइमरी स्कूल नगला बिरखू में साढ़े चार लाख रुपए से बाउंड्रीवाल व गेट बनाया गया था। इसमें भी घटिया निर्माण हुआ है।

गेट के ऊपर का बिम टूट चुका है और कभी भी गिर सकता है। ग्राम निधि ने ओपन जिम को डेढ़ लाख रुपये का भुगतान कर दिया गया, मगर गांव में कहीं पर भी जिम है ही नहीं। 50 हजार रुपए की लागत से बच्चा पार्क का निर्माण कराया गया था, लेकिन इसका भी अता पता अधिकारियों को नहीं मिला।

तीनों से की जाएगी रिकवरी। 


अलीगढ़, डीपीआरओ धनंजय जायसवाल ने बताया कि जांच में काफी खामियां मिली हैं। जिसके बाद तीनों को नोटिस दिए गए हैं। ग्राम प्रधान, सचिव और जेई से इस सारी राशि की रिकवरी की जाएगी।





✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ