राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

Yogi Oath Ceremony 2022, हम निकल पड़े हैं प्रण करके अपना तन-मन अर्पण करके.......... ।


हम निकल पड़े हैं प्रण करके अपना तन-मन अर्पण करके जिद है एक सूर्य उगाना है अम्बर से ऊँचा जाना है एक भारत नया बनाना है। 

 योगी आदित्यनाथ ने राज्यपाल से भेंट कर सरकार बनाने का दावा किया पेश 

6am On the way : Edited by रविन्द्र यादव, लखनऊ 9415461079,  24/ Mar/ 2022, Thu, 09 :05 PM 


योगी आदित्यनाथ को बृहस्पतिवार को एक बार फिर सर्वसम्मति से भारतीय जनता पार्टी के नवनिर्वाचित विधायक दल का नेता चुन लिया गया।

 योगी आदित्यनाथ लगातार दूसरी बार प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शुक्रवार की शाम को करीब चार बजे शपथ लेंगे। 

पर्यवेक्षक के तौर पर आए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास की मौजूदगी में योगी को विधायक दल का नेता चुना गया। बीजेपी विधायक दल के सबसे वरिष्ठ सदस्य सुरेश कुमार खन्ना ने योगी के नाम का प्रस्ताव रखा जिस पर सभी विधायकों ने रजामंदी दे दी। 


इसके बाद योगी ने राजभवन जाकर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात की और उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश किया, उत्तर प्रदेश विधानसभा के हाल ही में संपन्न हुए चुनाव में सत्तारूढ़ बीजेपी को 255 सीटें मिलीं, जबकि उसके सहयोगी अपना दल सोनेलाल को 12 तथा निषाद पार्टी को 6 सीटों पर जीत हासिल हुई। 

योगी मंत्रिमंडल का भव्य शपथ ग्रहण समारोह शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अनेक केंद्रीय मंत्रियों, बीजेपी के अन्य वरिष्ठ नेताओं तथा विभिन्न क्षेत्रों की प्रमुख हस्तियों की मौजूदगी में लखनऊ के अटल बिहारी वाजपेई इकाना स्टेडियम में आयोजित होना है। 


सूत्रों का कहना है कि बीजेपी केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा को उप मुख्यमंत्री बनाए रख सकती है। सूत्रों ने बताया कि तक़रीबन 46 मंत्री शपथ ले सकते हैं। पार्टी में कई लोगों का मानना है कि बीजेपी श्रीकांत शर्मा को दोबारा मंत्री बनाएगी। सूत्रों ने कहा कि दो पूर्व अधिकारी असीम अरूण और राजेश्वर सिंह को मंत्री बनाया जा सकता है। 

विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद योगी ने अपने संबोधन में कहा, ‘‘आज पार्टी ने मुझे फिर से जिम्मेदारी दी है. मैं फिर से वचन देता हूं कि हम बिना डिगे, बिना थके, बिना रुके प्रधानमंत्री के विजन (दृष्टिकोण) के अनुरूप उत्तर प्रदेश की 25 करोड़ जनता को जनार्दन (भगवान) मानकर उनकी सेवा के लिए पूरी ईमानदारी और तत्परता के साथ समर्पित भाव से काम करेंगे. हमारा पूरा विधायक दल इस अभियान का साक्षी बने और एक टीम के साथ तौर पर काम करता दिखे.


योगी ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि कोई मुख्यमंत्री पांच साल तक काम करे और फिर वह पार्टी दोबारा सत्ता में आ जाए. यह संभव हुआ है प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन और नेतृत्व से तमाम दुष्प्रचार के बावजूद भाजपा और सहयोगी दलों को प्रचंड बहुमत की सरकार के रूप में आज हमने सबके सामने प्रस्तुत किया है। 

योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘‘पार्टी ने 2017 में मुझ पर विश्वास किया था. तब मैं विधायक भी नहीं था. एक सामान्य सांसद था. मेरे पास कोई प्रशासनिक अनुभव नहीं था. हम तो अनगढ़ लोग थे। हमें कोई जानकारी नहीं थी। एक सांसद अपनी बात संसद में रख सकता है लेकिन प्रशासनिक व्यवस्था कैसे संभालना है, बिना भेदभाव के सरकारी योजनाओं का लाभ सभी तक कैसे पहुंचाया जाए यह एक बड़ी जिम्मेदारी होती है और इस दिशा में मुझे प्रधानमंत्री और गृह मंत्री का एक अभिभावक के तौर पर मार्गदर्शन समय-समय पर मिलता रहा। 







🌹💐🌹💐🌹💐🌹💐🌹💐🌹💐🌹💐🌹💐

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें