Ticker

6/recent/ticker-posts

UP PWD : जितिन प्रसाद ने उंगली से खोद दी 34 करोड़ की सड़क......

 

यूपी बेलगाम अफसर जीरो टॉलरेंस नीति का उड़ा रहे हैं मजाक

भ्रष्टाचार की इंतेहा! योगी सरकार में मंत्री जितिन प्रसाद ने उंगली से खोद दी 34 करोड़ की सड़क, जांच

6AM_NEWS_TIMES : Edited by. Ravindra yadav Lucknow : 9415461079, 02, Nov, 2022 : Wed, 01:12 PM,


गौरतलब है कि बीजेपी विधायक सुरेंद्र मैथानी ने मंत्री जितिन प्रसाद से पनकी में बनी रोड का सही ढंग से निर्माण ना होने की शिकायत की। मौके पर मौजूद लोक निर्माण विभाग के अधिकारी उसको सही बताते रहे। बीजेपी विधायक और अधिकारी के बीच आपस में बात बढ़ती देख मंत्री जितिन खुद रोड का निरीक्षण करने के लिए 10 किलोमीटर दूर पनकी पहुंच गए। 

कानपुर विधायक सुरेंद्र मैथानी और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के बीच बहस हुई तो मंत्री जितिन प्रसाद खुद भाटिया तिराहे से पनकी मंदिर तक बनी सीसी रोड देखने जा पहुंचे। वहां खुद सड़क खुरची तो 34 करोड़ की सीमेंटेड रोड से मिट्टी निकल आई। यह देख भड़क गए और ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड करने का निर्देश दे दिया। यहां तक कहा कि पूरे मामले की जांच कराएं। अधिशासी अभियंता (एक्सईएन) के खिलाफ अनिवार्य सेवानिवृत्ति की संस्तुति भेजें।


दरअसल, बैठक में सुरेंद्र मैथानी ने कहा कि भाटिया तिराहे से पनकी मंदिर तक की सीसी रोड साल भर में ही उखड़ गई। इस पर पीडब्ल्यूडी के मुख्य अभियंता परवेज अहमद खान की मजूदगी में अधिशासी अभियंता आरके त्रिपाठी ने यह कहकर गुमराह करने की कोशिश की कि रोड 2016 में बनाई गई थी। विधायक ने कहा कि अफसर झूठ बोल रहे हैं। गुमराह कर रहे हैं।


उन्होंने जितिन प्रसाद से आग्रह किया मंत्री जी, आप खुद चलकर सड़क देख लें। मैं गलत बोल रहा हूं या सही, मौके पर पूरी स्थिति साफ हो जाएगी। आखिरकार जितिन प्रसाद ने बैठक में ही अफसरों को निर्देश दिया कि सारे दस्तावेज लेकर मौके पर पहुंचें।

पौन घंटे तक सड़क चहलकदमी करते रहे कैबिनेट मंत्री

विधायक मैथानी को लेकर जितिन प्रसाद लगभग 5 बजे भाटिया तिराहा पहुंचे थे। वहां से पनकी मंदिर रोड का पौन घंटे तक निरीक्षण किया। पैदल ही चलते रहे। कई जगह रुके और रोड का अवोलोकन किया। खुद रोड खुरचने लगे तो सिर्फ अंगुली फिराते ही रोड से मिट्टी निकल आई। यह देख उनका पारा चढ़ गया। कहा कि फौरन जांच कराई जाए। जांच रिपोर्ट की प्रति मुझे भी दी जाए और विधायक को भी।

सीमेंटेड रोड आखिर कैसे उखड़ गई, इसकी पूरी रिपोर्ट दी जाए। इस रोड का निर्माण करने से लेकर गुणवत्ता का सत्यापन करने में जितने भी अफसरों की भूमिका हो, उनके खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की जाए। सभी से जवाब तलब किया जाए। मैथानी ने मौके पर ही दस्तावेज भी दिखाए कि सड़क कब से बननी शुरू हुई थी।

बता दें कि लोक निर्माण विभाग के मंत्री जितिन प्रसाद सोमवार को कानपुर में भी दौरा किया था। उन्होंने अधिकारियों से पूछा ठेकेदार कहां है ? ठेकेदार पर कार्रवाई करो, पूरी रिपोर्ट मुझे चाहिए, बताया जा रहा है कि इस सीमेंटेड सड़क का निर्माण 34 करोड़ की लागत से किया गया है। उन्होंने कहा कि सीएम योगी का सख्त निर्देश है कि सड़कों को लेकर सीधा निर्देश है, कोई भी गुणवत्ता से समझौता नहीं होगा, जीरो टॉलरेंस पर ही काम होगा, ऐसे में जो भी दोषी होगा, उसकी जांच करके कार्रवाई की जाएगी।







🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Chat with 6AM-News-Times The admin will reply in few minutes...
Hello, How can I help you? ...
Click Here To Start Chatting...