Ticker

6/recent/ticker-posts

Ayodhya : जालीदार टोपी लगाएं महेश मिश्रा, ब्रजेश पांडे, शत्रुघ्न, विमल पांडेय, प्रत्यूष श्रीवास्तव, दीपक गौड़, व नितिन कुमार, द्वारा अयोध्या में धर्मिक तनाव की बड़ी साजिश की कोशिश

 

“सर पर जालीदार टोपी, हाथ में आपत्तिजनक सामान” साजिशकर्ताओं मे एक भी नहीं मुसलमान ? 

राम की नगरी अयोध्या में धर्मिक तनाव फैला योगी सरकार को बदनाम करने की बड़ी साजिश नाकाम

6 एएम न्यूज नेटवर्क : Edited by रविन्द्र यादव, लखनऊ 9415461079, 30 Apr 2022 : Sat, 11:22 AM 


अयोध्या में धर्मिक तनाव की साजिश रचने वाला महेश मिश्रा, लगेगा NSA


राम की नगरी अयोध्या में धार्मिक माहौल बिगाड़ने की साजिश का मास्टरमाइंड महेश मिश्रा सहित इस मामले में अब तक सात लोग गिरफ्तार हो चुके हैं।

पुलिस ने बताया गिरफ्तार लोगों में महेश मिश्रा (मास्टरमाइंड), प्रत्यूष कुमार, दीपक गौड़, ब्रजेश पांडे, शत्रुघ्न, विमल पांडेय व नितिन कुमार, शामिल हैं। इनपर मस्जिदों के बाहर आपत्तिजनक सामान फेंक कर तनाव की साजिश रचने का आरोप है। सीसीटीवी में भी कैद हुए थे इनके चेहरे।


अयोध्या में साजिशकर्ता CCTV में कैद हुए थे। 

राम की नगरी अयोध्या में धार्मिक माहौल बिगाड़ने की बड़ी साजिश रची गई थी, जिसका पर्दाफाश किया गया है यहां कुछ असामाजिक तत्वों ने जालीदार टोपी लगाकर आपत्तिजनक पर्चे और धार्मिक स्थलों पर मांस के टुकड़े फेंके अब इनका भंडाफोड़ हुआ है, और पुलिस ने सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।


समाचार एजेंसी PTI के मुताबिक इस साजिश को रचने वाला आरोपी हिस्ट्रीशीटर है जिसपर चार मामले पहले से दर्ज हैं। छानबीन के बाद पुलिस ने सात लोगों को गिरफ्तार किया है, वहीं 4 अन्य लोगों की अभी तलाश है। पुलिस ने पहले दो आरोपियों को पकड़ा था। उन्होंने बाकियों की पहचान कराई । ये सभी 'हिंदू योद्धा संगठन' से जुड़े हुए बताये गए हैं.


कौन हैं आरोपी?


गिरफ्तार लोगों में महेश मिश्रा (मास्टरमाइंड), प्रत्यूष श्रीवास्तव, नितिन कुमार, दीपक गौड़, ब्रजेश पांडे, शत्रुघ्न व विमल पांडेय शामिल हैं। इनपर मस्जिदों के बाहर आपत्तिजनक सामान फेंक कर तनाव की साजिश रचने का आरोप है। ये लोग सीसीटीवी में भी कैद हुए थे।


पुलिस ने बताया कि महेश मिश्रा इसका मास्टरमाइंड था, उसने ब्रजेश पांडे नाम के शख्स के घर पर इसकी प्लानिंग रची थी, महेश ने आपत्तिजनक पर्चे लालबाग से छपवाये थे। वहीं आरोपी प्रत्यूष श्रीवास्तव ने कुरान और टोपी खरीदी थी.


इसके अलावा अन्य आरोपी ने लालबाग से मांस खरीदा था, इस सामान को 26 अप्रैल को जुटाया गया और फिर कश्मीरी मोहल्ला मस्जिद में मांस और कुरान को फेंका। फिर दूसरी मस्जिद में आपत्तिजनक सामान और मांस फेंका गया। 


पुलिस को इस मामले में कुल चार शिकायतें मिली थीं, इसमें बताया गया था कि आत्शा जामा मस्जिद, घोसियाना मस्जिद, कश्मीरी मोहल्ले में एक मस्जिद और एक मजार जिसे गुलाब शाह बाबा के नाम से जाना जाता है उसके बाहर आपत्तिजनक पर्चे और मांस फेंका गया था। 


पुलिस ने मुताबिक, आरोपी जहांगीरपुरी का बदला लेना चाहते थे, इसलिए वे लोग ईद पर माहौल खराब करना चाहते थे, ये लोग चाहते थे ईद की खुशी में खलल डाली जाए। 


फिलहाल इन लोगों पर आईपीसी की धारा 295 (किसी भी वर्ग के धर्म का अपमान करने के इरादे से पूजा स्थल को चोट पहुंचाना या अपवित्र करना) और 295A (जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कार्य, जिसका उद्देश्य किसी भी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को उसके धर्म या धार्मिक विश्वासों का अपमान करना है) के तहत मामला दर्ज किया गया है, अब इन लोगों को राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के तहत केस दर्ज होगा। 


मास्टरमाइंड के भाई ने क्या कहा


घटना के बाद मुख्य आरोपी महेश मिश्रा के भाई ने बताया कि महेश हिंदू योद्धा संगठन बनाकर अयोध्या के लड़कों को जोड़ रहा था, वह हर मंगलवार किसी ना किसी मोहल्ले में जाकर करता था हनुमान चालीसा का पाठ करता था।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Chat with 6AM-News-Times The admin will reply in few minutes...
Hello, How can I help you? ...
Click Here To Start Chatting...