Ticker

6/recent/ticker-posts

UP Criminals : ये मौत दुर्घटना नहीं हत्या है। नवजात बच्चे को सीने से पेट तक खाल जल गई,

 ये मौत दुर्घटना नहीं हत्या है ❓मामले की जांच कराई जाएगी ❓जो भी दोषी होगा,❓ उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। ❓ इन्हीं जुमलो से अपराधियों के बढ़ते हैं हौसले। 

अस्पताल कर्मचारी की लापरवाही से जिंदा जलकर नवजात की मौत बच्चे के सीने से पेट तक कि खाल जल गई, शरीर से निकलने लगा धुआं वॉर्मर मशीन पर रखकर मोबाइल पर बिजी हो गया स्टाफ, 

Kaushambi सब्सक्राइब करें। www.6amnewstimes.com  17: 08: 2021, रविन्द्र यादव लखनऊ 9415461079, 


परिजनों की गोद में नवजात का शव। मशीन के हीटिंग पैड पर झुलसा बच्चा। 

उत्तर प्रदेश में कौशांबी के जिला अस्पताल में SNCU (सिक न्यू बॉर्न केयर यूनिट) में एक नवजात शिशु वॉर्मर मशीन के हीटिंग पैड पर जिंदा जल गया। बच्चे का शरीर नीला पड़ गया था। वॉर्मर के हीट से बच्चे के सीने से पेट तक की खाल बुरी तरह झुलस गई। उसके शरीर से धुआं निकलने लगा था।

वार्मर पर रखने के बाद स्टाफ ने बच्चे को नहीं देखा। 

अस्पताल के स्टाफ ने जब यह देखा तो उसके हाथ-पांव फूल गए। फौरन डॉक्टर्स को सूचना दी। सीएमएस डॉक्टर दीपक सेठ और डॉक्टर SNCU वार्ड में पहुंचे। तब तक बच्चे की मौत हो चुकी थी। परिवार का आरोप है कि एसएनसीयू वार्ड का स्टाफ मोबाइल पर बिजी था। बच्चे की देखभाल तक नहीं की गई। परिवार ने स्टॉफ पर बच्चे को मार डालने का आरोप लगाया है।

नवजात की मौत से गुस्साए परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया। मामले की सूचना पर मंझनपुर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर किसी तरह परिजनों को शांत किया। इंस्पेक्टर मंझनपुर मनीष पांडेय ने बताया कि नवजात के पिता जुनैद अहमद से तहरीर मिली है। कार्रवाई जारी है।

घटना से गुस्साए परिजनों को पुलिस ने मौके पर पहुंचकर किसी तरह शांत कराया। 

14 अगस्त को प्रसव के लिए अस्पताल पहुंची थी महिला

फतेहपुर के हरिश्चंद्रपुर गांव के रहने वाले जुनैद अहमद ने पत्नी मेहिलिका को शुक्रवार शाम यानी 14 अगस्त को जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। शाम 6.15 बजे मेहिलिका ने बेटे को जन्म दिया। परिवार वाले काफी खुश थे। वह निश्चिंत थे कि डिस्चार्ज कराकर घर चले जाएंगे, लेकिन डॉक्टरों ने बच्चे को पूरी तरह से स्वस्थ न होने की बात कही और उसे SNCU वार्ड में शिफ्ट कर दिया।


पूरी रात परिवार के लोगों को नवजात के पास नहीं जाने दिया। रविवार सुबह बच्चे की नानी शबाना उसे देखने गई तो बच्चे का शरीर नीला था और उसके शरीर से धुआं निकल रहा था।

इस तरह हुई घटना। 

जिला अस्पताल के SNCU वार्ड के वॉर्मर में कई घंटे तक नवजात बच्चा हीटिंग पैड पर रखा रहा। ज्यादा तापमान हो जाने के चलते जिंदा जलकर उसकी मौत हो गई। पिता जुनैद ने बताया कि बच्चे का शरीर पूरी तरह से जला था। सीना और पेट का हिस्सा फट रहा था। स्टाफ अपने में व्यस्त था। बच्चे की किसी ने देखरेख नहीं की।

पिता जुनैद का कहना है कि बच्चे के शरीर से धुआं निकल रहा था। उसकी पूरी खाल झुलस गई थी। 

डॉक्टर बोले-गलती हो गई माफ कर दीजिए। 

अस्पताल एसएनसीयू वार्ड में नवजात की मौत की घटना जिसने भी सुनी वह सिहर गया। पिता जुनैद ने बताया कि उन्होंने बच्चे की हालत दिखाते हुए डॉक्टर से सवाल पूछा तो डॉक्टर ने कहा- माफ कर दीजिए गलती हो गई। इतना कह कर वह वहां से चले गए। इसके बाद वह अस्पताल में दिखाई नहीं पड़े। वह उन्हें पहचान सकता है पर नाम नहीं जानता।ध

जन्म के बाद दूध नहीं पी पा रहा था नवजात। 

शनिवार रात डॉक्टर्स ने परिजनों को बताया था कि नवजात दूध नहीं पी पा रहा है। उसे SNCU वार्ड में भर्ती करना पड़ेगा। जुनैद के बड़े भाई जावेद ने बताया कि सुबह जब वह शिशु वार्ड में गए तो स्टाफ मोबाइल में लगा हुआ था कोई बात नहीं सुन रहा था। बच्चे को दूर से देख पाए तो कुछ समझ नहीं आया।


बिना कार्रवाई के परिजन जाने को तैयार नहीं थे। फिलहाल, पुलिस तहरीर ले ली है। मामले की जांच की बात कही है। - 

बिना कार्रवाई के परिजन जाने को तैयार नहीं थे। फिलहाल, पुलिस तहरीर ले ली है। मामले की जांच की बात कही है।

परिजनों ने अस्पताल के सीएमएस व सदर कोतवाली पुलिस से मामले की शिकायत की है। पुलिस ने परिजनों से जानकारी ली है। वहीं, सीएमएस डॉ. दीपक सेठ का कहना है कि जिला अस्पताल के एसएनसीयू वार्ड में बच्चे की मौत की जांच कराई जाएगी। जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

( समाचार एवं चित्र दैनिक भास्कर से साभार ) 





"" "" "" ",,,,,,,,,,,,,,," "" "" "" "" "",, ",,,,,,,,,,,,,,,,,," ""

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Chat with 6AM-News-Times The admin will reply in few minutes...
Hello, How can I help you? ...
Click Here To Start Chatting...