राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

#UP_Panchyat_Election_2021 ; यूपी पंचायत चुनाव से पहले हजारों लोगों पर होगी कार्रवाई, इस वजह से...

 यूपी पंचायत चुनाव से पहले हजारों लोगों पर होगी कार्रवाई, इस वजह से हो सकती है कार्रवाई। 

UP Panchayat Chunav 2021 Latest News: सब्सक्राइब करें। www.6amnewstimes.com lucknow 24:02:2021 रविन्द्र यादव लखनऊ।


पंचायत चुनाव से पहले प्रदेश भर में हजारों बवालियों पर कार्रवाई होगी। उनको पाबंद करने के साथ ही जिला बदर किया जाएगा। गुप्त रिपोर्ट के मुताबिक चिह्नित उपद्रवी बवाल कर सकते हैं। इसलिए पहले ही उन पर कार्रवाई करके निष्पक्ष चुनाव की तैयारी शुरू हो गई है।

अप्रैल में पंचायत चुनाव प्रस्तावित है। हर जिले में करीब  हजारों लोगों पर बवाल की आशंका को देखते हुए कार्रवाई की जाएगी। माफिया व बवालियों को चिह्नित करने की जिम्मेदारी लेखपाल और एलआईयू को दी गई है। थानास्तर पर कार्रवाई शुरू हो गई है।

  प्रिंटिंग करने वालो की हो रही निगरानी।  

गांव में माहौल बिगाड़ने के लिए छपी सामग्री के इस्तेमाल की आशंका है। इसलिए जिला प्रशासन-पुलिस हर प्रिटिंग प्रेस संचालक से बात करने का प्रयास कर रहे हैं। हिदायत दी जा रही है कि कोई भी आपत्तिजनक सामग्री न छापें। चुनाव में उपयोग होने वाले मतपत्र और उनके रंग को लेकर भी हिदायत दी गई है, जिससे मिलती-जुलती सामग्री छपवाकर किसी भी तरह से चुनाव का माहौल खराब न किया जा सके।

  चुनाव से पहले जमा हो जाएंगे शस्त्र। 

पंचायत चुनाव को लेकर पुलिस अफसरों को अलर्ट किया गया है। डीआईजी ने कहा कि चुनाव से पहले हर हाल में सभी लाइसेंसी हथियार जमा कराए जाएं। इसके लिए डीएम से समन्वय कर हथियार जमा कराएं जाएं। डीआईजी उपेंद्र कुमार अग्रवाल ने सहारनपुर, मुजफ्फरनगर और शामली के पुलिस अफसरों से गुगल मीट की थी। उन्होंने कहा कि गुरू रविदास जयंती,  कुम्भ मेला हरिद्वार एवं आगामी पंचायत चुनाव की तैयारी शुरू करने को कहा। डीएम के साथ समन्वय स्थापित कर अपराधिक प्रवृत्ति वाले शस्त्र धारकों के विरुद्ध शस्त्र अधिनियम के अन्तर्गत निरस्तीकरण की लम्बित कार्यवाही पूर्ण करायी जाये। शस्त्रों को शत-प्रतिशत जमा कराने की कार्यवाही की जाये। चुनाव में कच्ची अवैध शराब का प्रचलन पर अंकुश लगाया जाए। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव में शराब की तस्करी पर कार्रवाई हो। निरोधात्मक कार्यवाही करने से पहले प्रत्येक व्यक्ति का भौतिक सत्यापन अवश्य कर लिया जाये। वर्तमान प्रधान या प्रत्याशी के खिलाफ कोई विवाद हो तो इस संबंध में उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जाए

पंचायत चुनाव के लिए तारीखों की घोषणा से पहले ही चुनाव को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं। मतदान स्थल तक पोलिंग पार्टियों को भेजने के लिए वाहनों के बंदोबस्त की जिम्मेदारी परिवहन विभाग को दी गई है। निर्वाचन कार्यालय ने इस संबंध में परिवहन विभाग से सूचना मांगी है। पत्र के बाद परिवहन विभाग ने ऐसे वाहनों की सूची तैयार कर भेज भी दी है। एआरटीओ विभाग ने बताया फिलहाल वाहनों की सूची तैयार कराई गई है। मांग के अनुसार तय समय पर वाहनों को अधिकृत किया जाएगा।


डीएम एसपी ने महिला संबंधी अपराधों को लेकर तत्परता से कार्रवाई करने के निर्देश थाना प्रभारियों को दिए। 

लगभग सभी जिलाधिकारियों ने थाना प्रभारियों को निर्देश दे दिया है कि थाना प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्रों में महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों में प्राथमिकता के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजने का काम करें। कोई भी व्यक्ति चाहे वह कितना भी असरदार हो उसके खिलाफ कार्रवाई में थाना प्रभारी हिचकें नहीं। सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिए कि आने वाले समय में पंचायत चुनाव को लेकर वह अलर्ट पर रहें । कोई भी व्यक्ति पंचायत चुनाव में गड़बड़ी व शांति व्यवस्था भंग करने की किसी प्रकार की आशंका हो तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाएं। थाना प्रभारी इस बात का ध्यान रखें कि पंचायत चुनाव को शांतिपूर्ण तरीके से पारदर्शिता के साथ संपन्न कराना है



......... 


.......... 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें