Ticker

6/recent/ticker-posts

Murder in UP Prayagraj ; कारोबारी प्यारे लाल यादव (65) की धारदार हथियार से हत्या,

 UP Prayagraj : कारोबारी प्यारे लाल यादव (65) की धारदार हथियार से हत्या, जमीन का कारोबार भी करते थे।

 Latest News: सब्सक्राइब करें। www.6amnewstimes.com lucknow 24:02:2021 रविन्द्र_यादव लखनऊ।


                     फाइल फोटो प्यारे लाल यादव। 

प्रयागराज जिले के सोरांव थाना क्षेत्र के हाजीगंज गांव निवासी प्यारे लाल यादव (65) कारोबारी की हत्‍या कर दी गई। हाजीगंज गांव में मंगलवार देर रात भूसा कारोबारी की धारदार हथियार से मौत के घाट उतारा गया। घर के बगल में बने गोदाम में वह अकेले सो रहे थे, उसी समय वारदात को अंजाम दिया गया। बुधवार सुबह कारोबारी की नातिन उनको नाश्ता देने पहुंची तो चारपाई पर रक्तरंजित लाश देखा।

https://twitter.com/prayagraj_pol/status/1364470290722349059?s=19

कारोबारी का खून से सना शव देखकर उनकी नातिन चीखने लगी। आवाज सुनकर स्वजन और आसपास के लोग मौके पर पहुंची। सूचना पाकर सोरांव पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। शव के पास खून से सना फावड़ा और सरिया बरामद हुआ है। वारदात किन कारणों से हुई, यह अभी स्‍पष्‍ट नहीं हो सका है, लेकिन जमीन की खरीद-फरोख्त को लेकर घटना होने की संभावना जताई जा रही है।


हाजीगंज गांव निवासी प्यारे लाल यादव (65) का मकान सड़क के किनारे है। घर के बगल में ही उन्होंने भूसे का गोदाम बना रखा है। गोदाम के बाहर मड़ही बनाकर वे अकेले यहां रहते थे। मंगलवार रात खाना खाकर वे यही सो गए। देर रात किसी ने फावड़ा और सरिया से सिर पर प्रहार कर उनको मौत के घाट उतार दिया। बुधवार सुबह उनके छोटे पुत्र अशोक की पुत्री सोनाली नाश्ता देने पहुंची तो चारपाई पर बाबा को मृत देखा। चीखते हुए वह घर पहुंची और घरवालों को जानकारी दी। खबर पाते ही स्वजन व आसपास के लोग मौके पर पहुंचे। चारपाई पर प्यारेलाल मृत पड़े थे। सिर व चेहरा खून से सना था। वहीं बगल में जमीन पर फावड़ा और सरिया पड़ी थी, जिसमें खून लगा था। 

घटनास्‍थल पर कुछ कागजात पड़े थे, जिसे जलाया गया था। ये कागजात संदूक और आलमारी का ताला तोड़कर निकाला गया था। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने स्वजनों से बातचीत की तो पुत्र संतोष व अशोक ने बताया कि प्यारेलाल भूसा का काम करने के साथ ही प्रापर्टी डीलिंग का भी काम करते थे। गोदाम के बगल प्लाटिंग चल रही है, जिस कारण चार-पांच लोग यहीं बैठते थे। सभी का नाम पुलिस को बताया। साथ ही यह भी बताया कि जो कागजात जलाए गए हैं, वे प्रापर्टी की खरीद-फरोख्त से संबंधित थे।

संतोष और अशोक ने बताया कि करीब तीन माह पहले उनके पिता ने भौजीतारा गांव के एक व्यक्ति से तीन बिस्वा जमीन खरीदी थी। उसे तीन लाख रुपये दिए थे, जबकि शेष रुपये जमीन बेचते समय देने की बात कही गई थी। इसकी बकायदा लिखापढ़ी की गई थी। हालांकि, उन्होंने रंजिश की कोई बात नहीं कही है। पुलिस का कहना है कि अभी तक की जांच में मामला प्रापर्टी से संबंधित लग रहा है। कागजातों को जलाने से यह संदेह पुख्ता भी होता है। फिलहाल पुलिस भौजीतारा गांव के उस व्यक्ति की तलाश कर रही है, जिसकी जमीन प्यारेलाल ने खरीदी थी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Chat with 6AM-News-Times The admin will reply in few minutes...
Hello, How can I help you? ...
Click Here To Start Chatting...