राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

ना एग्जाम, ना इंटरव्यू, योगी सरकार डायरेक्ट देगी सरकारी जॉब ! roadways employees, U.P. Yogi government

 ना एग्जाम, ना इंटरव्यू, योगी सरकार डायरेक्ट देगी सरकारी जॉब ! यूपी रोडवेज 1200 ड्राइवर, 268 कंडक्टर को नियुक्ति पत्र सौंपेंगे।

 6 एएम न्यूज टाइम्स लखनऊ, 9415461079; 01: 12: 2020 



लगभग 22 साल से रोडवेज में सेवाएं दे रहे संडे ड्राइवरों और परिचालकों को योगी सरकार नियमित करने का जा रहा है। नियमित होने वाले कर्मचारियों में 1200 संविदा चालक हैं जबकि 268 संविदा कंडक्टर शामिल हैं। 

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बड़ा ऐलान किया है। योगी सरकार ने यूपी रोडवेज में लम्बे समय से संडे पर काम कर रही है और कॉक्टरों को स्थाई सरकारी नौकरी देने का ऐलान किया है। ऐसे में यूपी रोडवेज में काम करने वाले इन कर्मचारियों को बड़ी राहत मिलेगी। 

1997 में शुरू हुआ संडे की व्यवस्था (अनुबंध व्यवस्था 1997 में शुरू हुई थी)

परिवहन निगम में एजेंसी के माध्यम से संडे पर चालक रखने की व्यवस्था 1997 से शुरू हुई थी। अब परिवहन निगम यह नियुक्तियां स्वयं करता है। ऐसे में योगी सरकार यूपी रोडवेज 1468 संविदा चालकों और परिचालकों को तोहफा देने जा रही है।

22 साल से कॉन्ट्रैक्ट पर कर रहे हैं काम (22 साल के लिए अनुबंध पर काम कर रहे हैं)

रोडवेज के 1468 कर्मचारी (roadways employees), जिन्हें सरकार नियमित (regularize) करने जा रही है, ये अपनी सेवाएं यूपी रोडवेज (UP Roadways) को 22 सालों से दे रहे हैं. नियमितीकरण का लाभ उन्हीं कर्मचारियों को मिल रहा है, जो दिसंबर 200 तक नियुक्त हुए थे. ये सभी कर्मचारी लखनऊ के चारबाग (Charbagh) - कैसरबाग (Kaiserbagh) और अवध डिपो (Awadh depots) में काम कर रहे थे.


महिला कर्मचारियों को भी मिलेगा फायदा (Women employees will also get benefit)

नियमित होने वाले कर्मचारी n (नियमित कर्मचारी) में कई महिला कंडक्टर (महिला कंडक्टर) भी शामिल हैं। परिवहन निगम (परिवहन निगम) में एजेंसी के माध्यम से संविदा पर चालक रखने की व्यवस्था 1997 से शुरू हुई थी। अब परिवहन निगम यह नियुक्तियां स्वयं करता है। संविदा से नियमित कर्मचारी (सरकारी सुविधाएं) के आधार पर नियुक्त किए जाने वाले कर्मचारियों से सभी सरकारी सुविधाओं का लाभ मिल सकेगा। वहाँ वे वेतन भी सरकारी की ओर से लागू किए गए वेतन आयोग (वेतन आयोग) के तहत मिल संभव के तहत।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें