Ticker

6/recent/ticker-posts

पूर्वांचल को खुशहाल बनाने के लिए सिंचाई प्रणालियों को पूरी क्षमता से संचालित करने पर जोर। Dr Mahendra Singh Minister Jal-Shakti-UP


👉  पूर्वांचल को खुशहाल बनाने के लिए सिंचाई प्रणालियों को पूरी क्षमता से संचालित करने पर जोर। 

👉  भूगर्भ जल संरक्षण, संचयन एवं सम्वर्धन के लिए आम जनता को जागरूक संवर्धन करना होगा।
 डॉ महेंद्र सिंह 

Ravindra Yadav 6 एएम न्यूज़ टाइम्स लखनऊ 9415461079 ; 11:12 :2020 



उत्तर प्रदेश के जलशक्ति मंत्री डॉ महेन्द्र सिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ जी के कुशल मार्गदर्शन में प्रदेश के पूर्वी हिस्से में विभिन्न विकास योजनाएं तेजी से लागू की जा रही हैं। प्रदेश की जनता इन योजनाओं के लागू होने से बदलाव महसूस कर रही है। उन्होंने कहा कि सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग द्वारा पूर्वांचल के विकास के लिए सिंचाई के लिए पर्याप्त जल की आपूर्ति की जा रही है। इसके अलावा जल संरक्षण एवं संचयन के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है।

डाॅ महेन्द्र सिंह आज गोरखपुर विश्व विद्यालय के जन्तु विभाग में पूर्वांचल विकास बोर्ड के तत्वावधान में आयोजित पूर्वांचल का सतत विकास-पूर्वी उ. प्र. के लिए एक पहल राष्ट्रीय वेबीनार व संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार के अब तक कार्यकाल में पूर्वांचल के विकास के लिए विभिन्न योजनाएं तैयार की गई हैं और उनको जमीन पर उतारने के लिए पूरी ईमानदारी से प्रयास किया गया है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की प्रेरणा एवं पहल पर प्रदेश में अटल भू-जल मिशन, पर-ड्राॅप-मोर-क्राॅप जैसी महत्वाकांक्षी योजनाओं को क्रियान्वित किया जा रहा है।



जल शक्ति मंत्री ने संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि जल प्रकृति की अनमोल धरोहर है। जल है तो कल है। इस बहुमूल्य सम्पदा को भावी पीढ़ी को सुरक्षित सौंपने के लिए जल का विवेकपूर्ण उपयोग जरूरी है। इसलिए सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग द्वारा भूगर्भ जल एवं जल संरक्षण एवं सम्वर्धन के लिए आम जनता को जागरूक किया जा रहा है। इसके साथ ही रेन वाटर हार्वेंस्टिंग को अनिवार्य बनाया जा रहा है। इसके अलावा पूर्वांचल व बुन्देलखण्ड तथा विन्ध्य क्षेत्र के संकटग्रस्त क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था की जा रही है। 



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ