Ticker

6/recent/ticker-posts

क्या अहंकार की भेंट चढ़ जाएगा सैफई परिवार। अखिलेश ने कहा अर्जेस्ट करेंगे , शिवपाल बोले-बेकार की बातों में नहीं पड़ना। shivpal-akhilesh ;

 क्या अहंकार की भेंट चढ़ेगा सैफई परिवार। अखिलेश ने कहा था उन्हें भी अर्जेस्ट करेंगे, शिवपाल बोले-बेकार की बातों में नहीं पड़ना। 

6AM NEWS TIMES Lucknow 9415461079 

 


एका की कोशिश में कभी नरम पड़े शिवपाल यादव के भी तेवर अब बदल रहे हैं। अखिलेश के प्रस्ताव पर शिवपाल ने कहा कि कोई क्या कह रहा है हमें इसमें नहीं पड़ना है।


हाइलाइट्स

👉  अखिलेश यादव ने कहा है कि शिवपाल यादव की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी को सपा केवल जसवंतनगर में ही एडजस्ट करेंगी। 

 👉  जसवंतनगर सीट उनके लिए छोड़ दी गई है, अगर सरकार बनती है तो वह मंत्री भी बनेंगे। 

👉   वहीं, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल यादव ने कहा कि उन्हें इन बेकार की बातों में नहीं पड़ना है। 

इटावा/लखनऊ

दीपावली के मिठाइयों की मिठास भी सैफई परिवार की खटास दूर नहीं कर पा रही है। त्योहार मनाने इटावा पहुंचे अखिलेश यादव ने साफ कहा है कि शिवपाल यादव की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी को एसपी केवल जसवंतनगर भर में ही एडजस्ट कर रही है। चाचा की जसवंतनगर सीट उनके लिए छोड़ दी गई है। अगर सरकार बनती है तो वह मंत्री भी बनेंगे। वहीं, शिवपाल यादव ने कहा कि उन्हें इन बेकार की बातों में नहीं पड़ना है।

अखिलेश ने इटावा में कहा कि एसपी किसी भी बड़ी पार्टी के साथ कोई गठबंधन नहीं करेगी। चुनावी गठबंधन छोटे दलों के साथ होगा। इसमें उनके चाचा की प्रसपा भी शामिल है। बीएसपी के कई नेताओं को पार्टी जॉइन करवाने के बाद एसपी मुखिया ने बीजेपी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि किसान का धान नहीं खरीदा जा रहा है। इस सरकार में हर वर्ग परेशान है। सरकार की इस बदइंतजामी का समय आने पर जनता माकूल जवाब देगी और सरकार को उखाड़ फेंकेगी। उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार चुनाव में सरकारी मशीनरी का भारी दुरुपयोग किया गया। ऐसा ही उत्तर प्रदेश के उपचुनाव में भी हुआ, चुनाव अधिकारियों ने लड़े हैं।


हम संगठन मजबूत करने में लगे: शिवपाल

एका की कोशिश में कभी नरम पड़े शिवपाल यादव के भी तेवर अब बदल रहे हैं। अखिलेश के प्रस्ताव पर शिवपाल ने कहा कि कोई क्या कह रहा है हमें इसमें नहीं पड़ना है। हम संगठन को मजबूत करने में लगे हुए हैं, जिससे 2022 में बीजेपी को सत्ता से बाहर किया जा सके।





एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ