Ticker

6/recent/ticker-posts

#Vikas_Dubey क्या विकास दुबे के बारे में कुछ तो छिपा रही है कानपुर पुलिस, चार्जशीट से चौंकाने वाला खुलासा

बिकरू कांड: क्या विकास दुबे के बारे में कुछ तो छिपा रही है कानपुर पुलिस, चार्जशीट से चौंकाने वाला खुलासा

#6AM_NEWS_TIMES_Lucknow 20: Oct :2020 




बिकरू का दहशतर्द विकास दुबे बिकरू से 5 किमी दूर शिवली में रुका था। इसका जिक्र पुलिस ने चार्जशीट में नहीं किया है। बिकरू कांड में सीओ समेत आठ पुलिस कर्मियों की हत्या के बाद विकास दुबे मोटरसाइकिल से भाग गया था। भागने के बाद वह शिवली में दो घंटे रुका फिर वहां से एक कार में बैठकर 50 किमी दूर एक गांव में छुपकर दो दिन रहा था।







इसके बाद वह उसी कार से औरैया गया। जहां से वह बस में बैठकर दिल्ली निकल गया था। मगर पुलिस द्वारा दाखिल की गई चार्जशीट में बिकरू से औरैया और औरैया से दिल्ली जाने का जिक्र नहीं किया गया है। ये बात पुलिस के लिए फांस बनी हुई है। जबकि पुलिस को फरीदाबाद पुलिस द्वारा दिए गए दस्तावेजों के अनुसार विकास कैसे पहुंचा उसके रिश्तेदार को कैसे पकड़ा गया ये चार्जशीट में दाखिल किया गया है।


 


जय बाजपेई और विकास दुबे3 of 5

जय बाजपेई और विकास दुबे - फोटो : अमर उजाला

बिकरू कांड में पुलिस ने तीन महीने बाद माती कोर्ट में 36 आरोपियों के खिलाफ करीब 1700 पन्नों की चार्जशीट दाखिल कर दी है। दो आरोपी अभी फरार हैं। विकास दुबे समेत छह बदमाश मारे जा चुके हैं। चार्जशीट के मुताबिक घटना को साजिश के तहत अंजाम दिया गया। दहशतगर्द विकास को पुलिसकर्मियों ने तहरीर पहुंचने से लेकर दबिश रवाना होने तक की जानकारी दी।


 


इसमें चौबेपुर के पूर्व एसओ विनय तिवारी और दरोगा केके शर्मा की मुख्य भूमिका रही। पुलिस ने विवेचना में इन्हीं तथ्यों को शामिल किया है। इससे संबंधित पारिस्थितिजन्य, वैज्ञानिक और फोरेंसिक साक्ष्यों को चार्जशीट में शामिल किया गया है। पुलिस की विवेचना के मुताबिक जब राहुल तिवारी ने विकास दुबे व उसके गुर्गों के खिलाफ पुलिस से शिकायत की थी तभी विकास को सूचना पहुंच गई थी।

 



पुलिस ने 36 बदमाशों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। जिसमें राम सिंह यादव, अखिलेश दीक्षित, जहान सिंह यादव, विष्णु पाल उर्फ जिलेदार, तत्कालीन चौबेपुर एसओ विनय तिवारी, दरोगा केके शर्मा, जयकांत बाजपेई, प्रशांत शुक्ला, गुड्डन त्रिवेदी, सुशील तिवारी, संजय उर्फ संजू, राजेंद्र मिश्रा, दयाशंकर अग्निहोत्री, हीरू दुबे, वीरू दुबे, धीरू दुबे, शिव तिवारी, शिवम दलाल, शिवम बीडीसी, श्यामू बाजपेई, रामू, गोपाल सैनी, गोविंद सैनी, बाल गोविंद, शशिकांत पांडेय, उमाशंकर, विपुल, नन्हू यादव, छोटू शुक्ला, बड़ा बउन उर्फ उमाशंकर शुक्ल, बल्लू मुसलमान और राकेश शामिल हैं। इसके अलावा चार महिला आरोपियों खुशी दुबे, शांति, रेखा अग्निहोत्री और छाया के नाम भी शामिल हैं।


 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ