राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

UP2022, सत्ता और न्यायपालिका का अजब संयोग या प्रयोग..........

 UP योगी सरकार से इस्तीफा देते ही स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी। 

2014, 7 सालों बाद धार्मिक भावनाएं भड़काने पर कोर्ट का आदेश, 

 6एएम न्यूज नेटवर्क, रविंद्र यादव, लखनऊ 12 : 01: 2022 / 03:55 pm


24 जनवरी को स्वामी प्रसाद मौर्य को पेश करने के आदेश. सात साल से चल रहा धार्मिक भावना भड़काने का मुकदमा. बसपा में रहते मौर्य ने दिया था पूजा न करने का बयान, 

2014 में देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणी का है मामला

बीजेपी छोड़ने के बाद से चर्चा में हैं स्वामी प्रसाद मौर्य

उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ एमपी-एमएलए कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया है. सुल्तानपुर के कोर्ट ने उनको आगामी 24 जनवरी तक पेश होने का आदेश दिया है.  


साल 2014 में देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में बुधवार को पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य अदालत में हाजिर नहीं हुए तो अपर मुख्य दंडाधिकारी एमपी-एमएलए ने आरोपित पूर्व श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ पूर्ववत जारी गिरफ्तारी वारंट को जारी करने का आदेश दिया है. अब इस मामले में 24 जनवरी को सुनवाई की तारीख तय हुई है.


साफ कर दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ यह नया गिरफ्तारी वारंट नहीं है. वारंट पहले से जारी था, लेकिन इन्होंने हाईकोर्ट से 2016 से इस पर स्टे ले रखा था. इसी 6 जनवरी को MP-MLA कोर्ट ने मौर्य को 12 जनवरी को हाजिर होने को कहा था, जब वह हाजिर नहीं हुए तो वारंट पूर्ववत जारी कर दिया गया.








@#@#@#@#@#@#@#@#@#@#@#@#@#@

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें