राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

UP Budget 2021 - 22 : योगी सरकार ने पेश किया पहला अनुपूरक बजट,

 UP Budget 2021/22 योगी सरकार ने पेश किया पहला अनुपूरक बजट, विपक्ष ने किया जोरदार हंगामा। 

योगी का चुनावी बजट : अधिवक्ताओं, किसानों आशा वर्करों, चौकीदारों, ग्राम प्रहरी, आंगनबाड़ी, सहित कई विभिन्न संभागों में काम कर रहे कर्मचारियों का मानदेय बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा। 

सब्सक्राइब करें। www.6amnewstimes.com 19: 08 : 2021, रविन्द्र यादव लखनऊ 9415461079, 


उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी योगी सरकार ने बुधवार को विधानमंडल में वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए 7301.52 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट पेश किया। विधानसभा में पेश किया गया अनुपूरक बजट आम बजट का 1.33 प्रतिशत है। रोजगार के मोर्चे पर विपक्ष के हमले झेल रही सरकार ने आलोचकों का मुंह बंद करने और युवाओं को साधने के लिए उन्हें डिजिटल तकनीक में सक्षम बनाने का इरादा जताया है। इसके लिए अनुपूरक बजट में 3000 करोड़ रुपये का कोष स्थापित करने का ऐलान किया गया है।

👉 वित्तमंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने अपने बजट भाषण में कहा कि इस बजट से तीन हजार करोड़ रुपये युवाओं के रोजगार पर खर्च होंगे। वहीं, आशा वर्करों, चौकीदारों, ग्राम प्रहरी, आंगनबाड़ी, रोजगार सेवक, प्रांतीय रक्षक दल, रसोइया समेत विभिन्न संभागों में काम कर रहे कर्मचारियों का मानदेय बढ़ाने पर ध्यान दिया जाएगा। इसमें अधिवक्ताओं के लिए भी स्पेशल बजट लाया गया है और गन्ना किसानों के बकाया का भुगतान किया जाएगा।

➡️ [ संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि देश में सबसे सस्ता डीजल पेट्रोल यूपी में है। सरकार मुफ्त खाद्यान्न बांट रही है। ] 


➡️  कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा ने कहा कि आज मानसून सत्र का दूसरा दिन है। महंगाई के कारण प्रदेश के क्या हालात हैं ये किसी से छिपा हुआ नहीं है। कांग्रेस ने कल भी प्रदर्शन किया और आज भी किया। हमने इस पर विधानसभा अध्यक्ष से चर्चा की मांग की थी लेकिन इसे कार्य सूची में 78वें नंबर पर रखा गया है। सरकार चर्चा से भाग रही है।

 ➡️  बसपा विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली ने कहा कि वह कृषि बिल व महंगाई पर चर्चा करना चाहते थे लेकिन सपा व कांग्रेस ने हंगामा कर दिया जिससे सदन स्थगित हो गया। उन्होंने कहा कि सपा व कांग्रेस भाजपा की मदद कर रहे हैं।

➡️  जानें, बजट में किस विभाग को कितनी रकम मिली। 

👉  उद्योग -- 30001

👉  ऊर्जा -- 150000

👉  कृषि -- 66.50

👉  पंचायती राज विभाग -- 26308

👉   गन्ना -- 20000

👉    गृह -- 4788

👉   चिकित्सा -- 12978

👉    शिक्षा (बेसिक) -- 8410

👉    सूचना -- 50000

👉    संस्कृति -- 5000 ( सभी आंकड़े लाख रुपये में हैं। )


➡️  बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे, बलिया लिंक एक्सप्रेस वे सहित मानदेय में बढोतरी का एलान

➡️ - बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे, बलिया लिंक एक्सप्रेस वे परियोजना के लिए बजट की व्यवस्था।

➡️ - अयोध्या व वाराणसी में धार्मिक स्थलों का सौंदर्यीकरण।

➡️ - आंगनबाड़ी व आशा कार्यकर्ताओं के मानदेय में बढ़ोतरी की जाएगी।

➡️ - पीआरडी जवानों के मानदेय में बढ़ोतरी।

➡️ - सामाजिक सुरक्षा निधि योजना के अंतर्गत अधिवक्ताओं, ग्राम प्रहरी व रोजगार सेवकों का मानदेय बढ़ेगा।

➡️ - गन्ना किसानों के बकाए का भुगतान होगा।

➡️ - छुट्टा गोवंश के रखरखाव को लेकर बजट की व्यवस्था।

 ➡️  एजेंडा और सवाल-जवाब भी होंगे पेपरलेस।

 विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि पहली बार कागज रहित बजट की प्रस्तुति की गवाह बनने जा रही उत्तर प्रदेश विधानसभा में एजेंडा, सवाल-जवाब और अन्य दस्तावेज भी 'पेपरलेस' होंगे। इससे पहले उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने रविवार को बताया था, 'देश की सभी विधानसभाओं मे ई-विधान लागू करने की योजना है। इसे उत्तर प्रदेश में भी क्रियान्वित किया जाएगा। इस पर जो भी खर्च आएगा वह हम वहन करेंगे। इस परियोजना के लिए संसदीय कार्य मंत्रालय को नोडल संस्था बनाया गया है।'


👉 मायावती , अगर पेट्रोल की कीमतों में कमी होती हो अच्छा होता।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने योगी सरकार द्वारा यूपी विधानसभा में पेश किए गए अनुपूरक बजट को प्रदेश की गरीब जनता के लिए दिल दुखाने वाला करार दिया है। उन्होंने कहा कि अगर राज्य सरकार तमिलनाडु की तरह पेट्रोल की कीमत 3 रुपए कम कर देती तो जनता को जरूर राहत मिलती।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने जिस तरह से अंधाधुंध वादे व घोषणाएं की हैं। उसके अनुसार प्रबंधन न होने से ये घोषणाएं सिर्फ कागज पर ही रह जाएंगी जबकि बसपा की सरकार में घोषणाओं से पहले वित्तीय प्रबंधन करना जरूरी था। उन्होंने कहा कि बसपा की व दूसरी सरकारों में यही एक फर्क है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें