राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

UPPCL, Dr Mahendra Singh ; “गुणवत्ता एवं समयबद्धता” से कार्यों पूरा कर अपनी अलग पहचान कायम करे।


यूपी.पी.सी.एल. निर्माण कार्याें को “गुणवत्ता एवं समयबद्धता” से पूरा कर अपनी अलग पहचान कायम करने का प्रयास करे। डॉ महेन्द्र सिंह। 

सब्सक्राइब करें। www.6amnewstimes.com 16:06 : 2021 , रविन्द्र_यादव लखनऊ 9415461079, 



लखनऊ ।उत्तर प्रदेश के जलशक्ति मंत्री डॉ महेन्द्र सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि उ.प्र. प्रोजेक्ट कोरपोरेशन लि (यूपीपीसीएल) द्वारा कराये जा रहे कार्याें में गुणवत्ता एवं समयबद्धता अनिवार्य रूप से सुनिश्चित की जाय। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बरतने पर सम्बन्धित अधिकारी की जिम्मेदारी तय करते हुए उनके विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कार्यस्थल पर कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन भी कराने की अपेक्षा की। 


जल शक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह ने निर्देश दिया कि विभागीय अधिकारी कारपोरेशन के कार्याें का स्थलीय निरीक्षण करें,। 

जल शक्तिमंत्री आज गोमती बैराज के निकट स्थित उत्तर प्रदेश प्रोजेक्ट कारपोरेशन लिमिटेड, मुख्यालय के सभागार में कारपोरेशन को आवंटित कार्याें की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने विभाग द्वारा नदियों के ड्रेजिंग कार्य, जल जीवन मिशन, विभिन्न चिकित्सालयों में आक्सीजन प्लान्ट तथा निर्माण सम्बन्धित सिविल कार्याें की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने कहा कि संस्था को गुणवत्तायुक्त एवं समय से कार्य संपादित करने से और अधिक कार्य मिलेगा। उन्होंने अधिकारियों, से कहा कि वे अधिक से अधिक कार्य लेने के लिए प्रयास करें। कारपोरेशन को निर्माण के मामले में नं एक बनाने का प्रयास करें। 


डाॅ महेन्द्र सिंह ने कहा कि यूपीपीसीएल को एक बेहतर कार्यदायी संस्था बनाने का लक्ष्य रखे। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे अपने दायित्वों को पूरी पारदर्शिता से पूरा करे। उन्होंने अधिकारियों से यह भी अपेक्षा किया कि वे मानक के अनुरूप एवं कार्य समय से पहले कार्य को पूर्ण करायें। उससे जहां कार्यदायी संस्था की पहचान बनेगी वहीं दूसरी तरफ और अधिक कार्य मिलने की संभावना बनेगी। 

जलशक्ति मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि कराये जा रहे कार्यों को नियमित रूप से स्थलीय निरीक्षण किया जाना सुनीश्चित किया जाए। इसके साथ ही अपने अधीनस्थ अधिकारियों/कर्मचारियों को मार्गदर्शन देते रहे। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि सभी अधिकारी अपना एक व्हाट्सऐप ग्रुप बनाये तथा संस्था द्वारा कराये जा रहे कार्याें को सोशल मीडिया पर अपलोड करके उनका व्यापक रूप से प्रचार प्रसार कराये। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि निर्माण स्थलों पर कराये जा रहे कार्याें को स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं संबधित विभाग के मंत्री जी को भी स्थलीय निरीक्षण कराये जाने का आग्रह करें। 

जलशक्ति मंत्री ने कहा कि मानसून से पूर्व बाढ़ से सुरक्षा के किये कराये जा रहे कार्यों को जनता के साथ ही जनप्रतिनिधियों द्वारा विभागीय अधिकारियों की सराहना की जा रही है। उन्होंने उम्मीद जाहिर करते हए कहा कि सभी कार्य समय से कराये जाये जिससे गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी प्रदेश की जनता को बाढ़ की विभिषिका को सामना नहीं करना पड़ेगा। 

सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के अपर मुख्य सचिव टी वेंकटेश ने मंत्री जी को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा दिये गये आदेशों का शत प्रतिशत अनुपालन कराया जायेगा। उन्होंने कहा है कि समय से कार्यों को गुणवत्ता पूर्वक पूरा कराना हमारी प्राथमिकता है।  

समीक्षा बैठक में यूपीपीसीएल के प्रबन्धक निदेशक नवीन कपूर, मुख्य महाप्रबन्धक गोपाल मिश्र तथा अन्य वरिष्ठ विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें