राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

Gangster Vikas Dubey, Richa Dubey पत्नी और बेटों की सपत्तियों की होगी जांच।

कानपुर बिकरू कांड : गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी ऋचा दोनों बेटों के साथ पहुंची ED दफ्तर, संपत्तियों की होगी जांच। 

6AM NEWS TIMES Lucknow 22:10:2020 


गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश हुईं

लखनऊ। ईडी ने विकास दुबे द्वारा जुटाई गई संपत्तियों का ब्योरा मांगा है। ऋचा दुबे अपने दो बेटों के साथ ईडी के लखनऊ स्थित दफ्तर पहुंची थी । 

प्रवर्तन निदेशालय मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच कर रहा है, जो दुबे और उनके 10 सहयोगियों के खिलाफ पिछले महीने उनके फाइनेंसर जयकांत बाजपेयी के खिलाफ दर्ज किया गया था।अधिकारियों के अनुसार, धन शोधन रोकथाम अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था।



लखनऊ (उत्तर प्रदेश): अधिकारियों ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी रिचा को आज पूछताछ के लिए लखनऊ कार्यालय में बुलाया है।

कथित तौर पर, आर्थिक अपराध शाखा ने उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में विकास दुबे और उनके सहयोगियों के खिलाफ लगभग 60 एफआईआर के आधार पर पंजीकरण किया था। अधिकारियों ने कहा था कि वे ऐसे उदाहरणों में सामने आए हैं, जहां प्राइमा फेसिलिटी ने सीमा पार कर ली थी।

अपने दोनों बेटों के साथ ईडी दफ्तर पहुंची। 

गौरतलब है कि बिकरू कांड के बाद विकास दुबे की अवैध संपत्तियों की जांच में जुटी ईडी को कुछ ऐसे दस्तावेज मिले हैं, जिससे उसकी अवैध संपत्तियों का पता चलता है. ईडी ने ऋचा दुबे को भी संपत्तियों के दस्तावेज के साथ तलब किया है. ईडी संपत्तियों के दस्तावेज की जांच के साथ ही यह भी पूछताछ कर सकती है कि इन संपत्तियों कब और कैसे अर्जित किया गया। 

इन संपत्तियों का मांगा गया है ब्योरा। 

ईडी सूत्रों के मुताबिक उसके हाथ कानपुर नगर, चौबेपुर और स्वरूपनगर में विकास दुबे की संपत्तियों का पता चला है. इसके अलावा बिकरू गांव में भी खेती की जमीन की जानकारी है। अब इन संपत्तियों को कैसे अर्जित किया गया? क्या इसके पीछे अवैध कमाई का इस्तेमाल किया गया है? ईडी इसकी जांच कर रही है। 

बता दें बिकरू कांड के बाद से विकास दुबे और उसकी काली कमाई में सहयोगी रहे लोगों पर जांच एजेंसी का शिकंजा कसा है।

विकास दुबे के खास जय बाजपेयी पर पहले ही ईडी का शिकंजा कसा जा चुका है. 2- 3 जुलाई की रात कानपुर के बिकरू गांव में गैंगस्टर विकास दुबे ने अपने साथियों के साथ मिलकर सीओ देवेंद्र मिश्रा समेत 8 पुलिसकर्मियों की हत्या की थी. जिसके बाद एक एनकाउंटर में विकास दुबे भी मारा गया था. विकास दुबे और उसके करीबियों की संपत्तियों की जांच में ईडी लग गई है. जिसके चलते संपत्तियों के दस्तावेज के साथ ईडी ने आज ऋचा को तलब किया था. शुरुआती जांच में विकास दुबे और जय बाजपेयी के संबंधों पर होगी पूछताछ।










कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें