Ticker

6/recent/ticker-posts

Paytm V/S Google अब पेटीएम यूजर्स के खाते में पैसों का क्या होगा,

अब पेटीएम यूजर्स के खाते में पैसों का क्या होगा, कंपनी ने कहा-पूरी तरह सेफ है आपकी रकम। 

Lucknow 6AM NEWS TIMES 18:09:2020 04:18 PM


गूगल प्ले स्टोर ने मोबाइल पेमेंट ऐप Paytm को बड़ा झटका देते हुए आज उसे हटा दिया है। वहीं Apple App Store पर यह ऐप डाउनलोड के लिए उपलब्ध है। अब सबसे बड़ा सवाल है कि क्या यूजर इसे अब इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। बता दें Paytm को केवल गूगल प्ले स्टोर से ही हटाया गया है। अगर आपके फोन में पहले से Paytm मौजूद है तो अभी भी आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। बता दें कि इस ऐप का इस्तेमाल छोटी-बड़ी सभी पेमेंट से लेकर शॉपिंग और इन्वेसमेंट के लिए भी किया जाता है। 


गूगल प्ले स्टोर से पेटीएम ऐप हटाए जाने के बाद कंपनी ने ट्वीट कर कहा है कि नए डाउनलोड या अपडेट के लिए Google के Play Store पर Paytm Android ऐप अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है। यह बहुत जल्द वापस आ जाएगा। आपके सभी पैसे पूरी तरह से सुरक्षित हैं, और आप अपने पेटीएम ऐप को सामान्य रूप से जारी रख सकते हैं।

5 करोड़ मंथली एक्टिव यूजर्स

पेटीएम भारत का सबसे कीमती स्टार्टअप है और इसका दावा है कि इसके पास 5 करोड़ मंथली एक्टिव यूजर्स हैं। एक-दूसरे के साथ पैसे ट्रांसफर करने की सुविधा देने वाली पेटीएम ऐप आज ही प्ले स्टोर से हटाई गई है। गूगल ने कहा, खेलों में सट्टेबाजी को बढ़ावा देने वाले ऐप प्ले स्टोर से हटाए जाएंगे।

जानें गूगल ने क्या कहा

ऐप को हटाने के बाद गूगल ने कहा कि प्ले स्टोर पर भारत में ऑनलाइन कैसिनो और खेलों पर सट्टेबाजी कराने वाली ऐप्स की इजाजत नहीं है। इस संबंध में पेटीएम लगातार प्ले स्टोर के नियमों का उल्लंघन कर रही थी। गूगल ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा, ''हम ऑनलाइन कैसिनो की अनुमति नहीं देते हैं या खेलों में सट्टेबाजी की सुविधा देने वाले किसी भी अनियमित जुआ ऐप का समर्थन नहीं करते हैं। इसमें वे ऐप शामिल हैं जो ग्राहकों को किसी ऐसी बाहरी वेबसाइट पर जाने के लिए प्रेरित करते हैं, जो धनराशि लेकर खेलों में पैसा या नकद पुरस्कार जीतने का मौका देती है। यह हमारी नीतियों का उल्लंघन है।

ब्लॉग पोस्ट में कहा गया है कि ये नीतियां उपयोगकर्ताओं को संभावित नुकसान से बचाने के लिए हैं। हालांकि, गूगल ने यह साफ नहीं किया है कि क्या इस आधार पर किसी ऐप को हटाया गया है या नहीं। गूगल ने यह भी कहा कि जब कोई ऐप इन नीतियों का उल्लंघन करता है, तो उसके डेवलपर को इस बारे में सूचित किया जाता है, और जब तक डेवलपर ऐप को नियमों के अनुरूप नहीं बनाता है, उसे तब तक गूगल प्ले स्टोर से हटा दिया जाता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ