Ticker

6/recent/ticker-posts

deputy CmUp Maurya : प्रदेश के विकास हेतु 7अरब 41 करोड़ की धनराशि अवमुक्त........


चहुंमुखी और बहुमुखी विकास हेतु विधायक निधि के 7अरब 41 करोड़ की धनराशि अवमुक्त की जा रही है।

उपमुख्यमंत्री मौर्य ने फरियादियों कि समस्या का सही निदान एवं पारदर्शिता के साथ त्वरित गति से किये जाने का निर्देश दिए। 

6 AM NEWS TIMES : Edited by. Ravindra yadav Lucknow 9415461079, 28, Jun, 2022 : Tue, 05 : 37 AM 


लखनऊ: उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज अपने कैम्प कार्यालय में आयोजित जनता दर्शन के दौरान प्रदेश के कोने-कोने से अपनी-अपनी समस्याओं को लेकर आये जन सामान्य से स्वयं आवेदन प्राप्त कर उनकी समस्याओं को पूछा तथा आश्वस्त किया कि आपकी समस्या निस्तारण को, हर सम्भव प्रयास करके निराकरण कराया जायेगा, जिससे आप लोगों को बार-बार न दौड़ना पड़े। उन्होंने कहा कि आप लोग अपने क्षेत्रान्तर्गत होने वाले समाधान दिवस में उपस्थित होकर अपना आवेदन देते हुए समस्या से अवगत करायें, जिससे आपको दूर तक नहीं दौड़ना पड़ेगा और आपकी समस्या का शीघ्रता के साथ नियमानुसार निस्तारण भी किया जायेगा।



श्री मौर्य ने पत्रों का संज्ञान लेते हुए सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि उनका नियमानुसार निर्धारित अवधि में निस्तारण करायें, जिससे किसी भी फरियादी को बेवजह परेशान न होना पड़े। उन्होंने कहा कि समस्या का निदान सही और पारदर्शिता के साथ हो, जिससे किसी प्रकार की कोई पुनः शिकायत प्राप्त होने की सम्भावना न रहे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कहा कि शिकायत निस्तारण की समय-समय पर समीक्षा की जाये, जिससे यदि कहीं निस्तारण में विलम्ब होता है ,तो यह सुनिश्चित हो सके कि किस स्तर पर लापरवाही/उदासीनता बरती जा रही है, तो संबंधित की जिम्मेदारी निर्धारित कर कार्यवाही की जायेगी।


उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि किसी को भी एक ही समस्या के लिए बार-बार आवेदन न देना पड़े, इसलिए समस्या का निदान भी समयान्तर्गत किया जाये। जनता दर्शन में सैकड़ों लोगों ने अपनी समस्याएं रखीं।

कई मामलों में उपमुख्यमंत्री ने सम्बंधित उच्चाधिकारियों से दूरभाष पर समस्याओं के निस्तारण के सम्बन्ध मे वार्ता भी की।


यह धनराशि डीआरडीए के डिपाजिट खाता में स्थानांतरित करके योजना के दिशा निर्देशों के साथ व्यय की जाएगी।


[ विधानमंडल क्षेत्र विकास निधि ( विधायक निधि ) योजना अंतर्गत विधानसभा के 404 सदस्यों में से 403 सदस्यों हेतु रु० 06 अरब 4 करोड़ 50 लाख की धनराशि तथा विधान परिषद के 100 में से 91 मा०सदस्यों हेतु रू० 01 अरब 36 करोड़ 50 लाख की धनराशि अर्थात विधानमंडल के कुल 504 मा० सदस्यों में से संप्रत्ति 494 मा० सदस्यों को प्रथम किश्त के रूप में रु०150 लाख प्रति सदस्य की दर से कुल रु० 07 अरब 41करोड़ की धनराशि (जीएसटी सहित ) अवमुक्त की जा रही है। ]









✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩✔️🚩


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ