राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

Covid-19 2021 कोरोना संक्रमण का नया दौर और भी विकराल, पाबंदियां और सख्ती बढ़ रही है।

  फन माल समेत कई प्रतिष्ठान सील। हनुमान सेतु श्रृदालुओं पर रोक  

लखनऊ, कोरोना संक्रमण का नया दौर और भी विकराल, पाबंदियां और सख्ती बढ़ा रही है सरकार। 

  सब्सक्राइब करें। www.6amnewstimes.com lucknow 02 :04: 2021 RAVINDRA YADAV Lucknow, 9415461079 

लखनऊ ; धार्म‍िक स्थलों से लेकर बाजार और रेस्टोरेंट में बिना मास्क प्रवेश पर पूरी तरह रोक लगा दी गयी है। कोव‍िड प्रोटोकाल का उल्‍लंघन के मामले में डीएम अभ‍िषेक प्रकाश ने फन माल समेत कई प्रत‍िष्‍ठानों को सील क‍िया गया है। हनुमान सेतु गर्भग्रह में श्रृदालुओं के प्रवेश पर रोक के साथ होने वाली पूजा को भी अनिश्चितकाल के लिए बंद करने का फैसला किया है। कोविड प्रोटोकॉल के उल्लंघन पर फन मॉल और माय बार को सील कर दिया गया है। कल से शहर की मंडियों में फुटकर बिक्री पर भी रोक लग गयी है।

 इन पर हुई कार्रवाई। 

मेगा शाॅप, ठाकुरगंंज मेंं बालागंज चौराहा ग्‍लोब काफी, अलीगंज कपूरथला ग‍िलोरी पान, अलीगंज मेहमान लड्डू, कपूरथला फन र‍िपब्‍ल‍िक मॉल, गोमतीनगर माई बार हेडक्‍वटर, गोमतीनगर पंचवटी स्‍वीट्स, भूतनाथ। 

राजधानी में कोरोना मरीजों की लगातार बढ़ रही संख्या को देखते हुए धार्मिक स्थलों और बाजारों में सुरक्षा के अतिरिक्त उपाय किए जा रहे हैं। हनुमान सेतु मंदिर में गर्भगृह तक जाने पर रोक लगा दी गई और मास्क पहनकर प्रसाद चढ़ाने के लिए श्रद्धालुओं से कहा गया है। मुख्य पुजारी चंद्रकांत द्विवेदी ने बताया कि मंदिर ट्रस्ट ने सुरक्षा के चलते सभी पुजारियों को दो अप्रैल से अनिश्चितकालीन अवकाश पर घर भेज दिया है इसलिए वहां पर अब पूजा नहीं होगी।

मनकामेश्वर मंदिर में भी घंटा बजाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, साथ ही दस साल तक के बच्चों और साठ वर्ष के ऊपर के बुजुर्गों को मंदिर नहीं आने को कहा गया है। पहले बनाए गए अस्थाई अरघे से ही अभिषेक होगा। प्रसाद व पुष्प श्रद्धालु स्वयं चढ़ाएंगे। राजेंद्र नगर के महाकाल मंदिर के व्यवस्थापक अतुल मिश्रा ने बताया कि घंटा बजाने और प्रसाद चढ़ाने पर प्रतिबंध है। मास्क और सैनिटाइजर के साथ श्रद्धालुओं को मंदिर में आने के लिए कहा गया है। अलीगंज नए व पुराने हनुमान मंदिर के अलावा कोनेश्वर, बड़ा व छोटा शिवाला, संदोहन देवी मंदिर व कालीबाड़ी मंदिरों में बगैर मास्क के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। 

गुरुद्वारों में बिना मास्क के प्रवेश पर प्रतिबंध : लखनऊ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी द्वारा सभी गुरुद्वारों की कमेटियों को कोरोना संक्रमण से निपटने के उपाय करने के निर्देश दिए गए हैं। गुरुद्वारे में गुरु ग्रंथ साहिब के सामने दूर से मत्था टेकने और दरबार हाल में मास्क के साथ प्रवेश होगा। गुरुद्वारा नाका ङ्क्षहडोला के प्रवक्ता जसवीर ने बताया कि गुरुद्वारे में बगैर मास्क के प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा। हर दिन होने वाली लंगर सेवा भी दूर से करने के लिए कहा गया है। गुरुद्वारा मानसरोवर के बग्गा ने बताया कि गुरुद्वारे में कोरोना संक्रमण बचाने के लिए मास्क और सैनिटाइजर का प्रबंध किया गया है। गुरुद्वारा यहियागंज के सचिव मनमोहन हैप्पी ने बताया कि सरकार की गाइड लाइन का पालन किया जाएगा। 

उल्लंघन पर मॉल और बार सील : कोरोना प्रोटोकॉल के उल्लंघन के मामलों पर अब प्रशासन की सख्ती बढ़ती जा रही है। प्रशासन ने गुरुवार को कोविड प्रोटोकॉल के उल्लंघन पर गोमतीनगर में बड़ी कार्रवाई करते हुए फान मॉल और समिट बिल्डिंग में स्थित माय बार को सील कर दिया। दोनो को पहले सुधार के लिए नोटिस दिया गया था। एसडीएम सदर प्रफुल त्रिपाठी के मुताबिक गुरुवार को जांच में कोविड प्रोटोकॉल का पालन फिर नहीं होना पाया गया। लोग बिना मास्क प्रवेश कर रहे थे और सनेटाइजेशन की व्यवस्था नहीं थी। एसडीएम के मुताबिक अगले आदेश तक मॉल को बंद कर दिया है। अगले अड़तालीस घंटे में अपना पक्ष रखने के लिए एडीएम ट्रांसगोमती के कार्यालय में उपस्थित होंगे। वहीं दूसरी कार्रवाई विभूति खंड में समिट बिल्डिंग में स्थित माय बार में की गयी। प्रशासन ने यहां भी कोविड प्रोटोकॉल के उल्लंघन पर अगले आदेश तक बार को सील कर दिया।  



............................. 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें