Ticker

6/recent/ticker-posts

Bjp UP_Panchayat_Election ; पंचायत चुनाव से पहले गांव - गांव में अपना जनाधार मजबूत करेगी भाजपा।

 पंचायत चुनाव से पहले गांव - गांव में अपना जनाधार मजबूत करेगी भाजपा, शुरू हुआ गांव - गांव अभियान। 

सब्सक्राइब करें। www.6amnewstimes.com Ravindra Yadav lucknow 29:01:2021


              भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह। 

उत्तर प्रदेश के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए बीजेपी ने प्रदेश से लेकर मंडल स्तर तक के लिए रणनीति तय की है। भाजपा गुरुवार से संगठन का बड़ा अभियान शुरू करने जा रही है। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने पश्चिम यूपी के सहारनपुर से मंडल स्तर की बैठकों की शुरुआत किया , 3 फरवरी तक चलेगा। 

👉  बीजेपी की मंडल स्तर पर बैठकों शुरू हुई । 

👉  स्वतंत्र देव सिंह सहारनपुर से शुरू किया अभियान। 
👉  पंचायत चुनाव योगी सरकार आने के चार साल बाद होंगे। ?

उत्तर प्रदेश के पंचायत चुनाव से ठीक पहले बीजेपी ग्रामीण स्तर पर अपने जनाधार को मजबूत करने की कवायद में जुट गई है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए बीजेपी प्रदेश से लेकर मंडल स्तर तक के लिए रणनीति तय की गई है. भाजपा गुरुवार से संगठन का बड़ा अभियान शुरू करने जा रही है. प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह पश्चिम यूपी के सहारनपुर से मंडल स्तर की बैठक की शुरुआत करेंगे, जो 3 फरवरी तक चलेगा. इस दौरान पार्टी पदाधिकारी लगातार अलग-अलग यानी सूबे के कुल 1600 संगठनात्मक मंडलों में बैठक कर गांव और जमीनी स्तर पर संगठन को मजबूत करने का काम करेंगे. 


प्रदेश के पंचायत चुनाव के लिए मंडलों को मथने का सिलसिला बीजेपी शुरू कर रही है। पहले दिन प्रदेश अध्यक्ष सहारनपुर के गागलहेड़ी मंडल में बैठक कर चुनावी तैयारियों की समीक्षा। वहीं, प्रदेश उपाध्यक्ष व पंचायत चुनाव प्रभारी विजय बहादुर पाठक ने बताया कि सभी 1600 ग्रामीण संगठनात्मक मंडलों में बैठकों के माध्यम से चुनाव को लेकर मंत्रणा होगी। 


उन्होंने बताया कि इन सभी मंडलों में पंचायत चुनाव को लेकर बैठक की कार्ययोजना बनाई गई है. इन बैठकों में मंडल के प्रभारी, मंडल अध्यक्ष, सेक्टर प्रभारी, सेक्टर संयोजक, मंडल स्तर के पदाधिकारी, उस मंडल में निवास करने वाले जिला पंचायत वार्ड के संयोजक, प्रभारी और पंचायत चुनाव के ब्लाक संयोजक शामिल होंगे. पंचायत चुनाव को लेकर अब तक की तैयारी की समीक्षा होगी और जिला पंचायत के हर वार्ड को जीतने की रणनीति बनाई जाएगी.



बीजेपी अभी तक पंचायत चुनाव की तैयारी के लिए जिले स्तर की बैठक कर सियासी नब्ज को समझने की कवायद की है. इन बैठकों को प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह, सह प्रभारी सुनील ओझा, प्रदेश के सह संगठन महामंत्री भवानी सिंह संबोधित कर चुके हैं. अब अगले चरण में मंडल स्तर की रणनीति बनाई गई है. यह जिले के बाद की संगठनात्मक इकाई है और माना जा रहा है कि बीजेपी गांव स्तर तक पहुंचने की योजना पर काम कर रही है. 

योगी सरकार के चार साल पूरे होने पर होंगे चुनाव? यूपी पंचायत चुनाव को लेकर अभी तक आरक्षण का प्रारूप सामने नहीं आया है, जिस पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं. ऐसे में ग्राम प्रधान, क्षेत्र और जिला पंचायत चुनाव के लिए अधिसूचना जारी होने की देर हो सकती है. हालांकि, सरकार ने 15 फरवरी तक पंचायतों के आरक्षण की स्थिति स्पष्ट हो जाने की बात कही है, लेकिन सरकार जिस तरह से अभी तक सिर्फ मंथन ही कर रही है. ऐसे में योगी सरकार के चार साल पूरे होने के बाद ही पंचायत चुनाव कराने की संभावना बन रही है. 

  उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के चार साल 19 मार्च पूरे हो रहे हैं।  

 ऐसे में सरकार अपने चार साल के काम काज का जश्न मनाने के साथ ही उसे जनता के बीच ले जाने की रणनीति बनाई है. अगर उससे पहले अधिसूचना जारी होती है तो आचार संहिता लागू हो जाएगी और सरकार ऐसा नहीं कर पाएगी. लिहाजा पंचायत चुनावों की अधिसूचना 19 मार्च के बाद ही जारी होने की संभावना मानी जा रही है. इस लिहाज से पंचायत चुनाव में देरी हो सकती है.




....... 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Chat with 6AM-News-Times The admin will reply in few minutes...
Hello, How can I help you? ...
Click Here To Start Chatting...