राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

योगी सरकार ने 28 नई नगर पंचायतों के गठन और 23 नगर निकायों का सीमा विस्तार की दी मंजूरी। UP Yogi Government

 यूपी में 28 नई नगर पंचायतों का गठन, 23 नगर निकायों का सीमा विस्तार, सरकार ने दी प्रस्तावों को मंजूरी। 

 ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट्स के लिए सब्सक्राइब करें। www.6amnewstimes.com 

Ravindra Yadav 6 एएम न्यूज़ टाइम्स लखनऊ 22:12 :2020 




यूपी सरकार ने प्रदेश में 28 नई नगर पंचायतों के गठन का फैसला किया है।
साथ ही गोरखपुर और वाराणसी नगर निगमों समेत कुल 21 अन्य नगर निकायों के सीमा विस्तार के प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी है। जिन अन्य नगर निकायों का सीमा विस्तार किया गया है उनमें 9 नगर पालिका परिषद और 12 नगर पंचायतें शामिल हैं। 

सरकार ने इससे संबंधित प्रस्तावों को सोमवार को कैबिनेट बाई सर्कुलेशन मंजूरी दे दी है। सरकार के इस फैसले के बाद अब प्रदेश में नगर निकायों की संख्या 707 से बढ़कर 735 हो गई हैं।

नगर विकास विभाग के प्रस्ताव के मुताबिक 276 राजस्व गांवों को शामिल करते हुए 28 नई नगर पंचायतों का गठन किया गया है। जबकि 77 राजस्व गावों को शामिल करते हुए 12 नगर पंचायतों का सीमा विस्तार किया गया है। इसके साथ ही 102 राजस्व गांवों को शामिल करते हुए नौ नगर पालिका परिषदों की सीमा बढ़ाई गई है। 

इसी प्रकार नगर निगम गोरखपुर में एक और नगर निगम वाराणसी में नौ राजस्व गांवों को शामिल करते हुए सीमा विस्तार किया गया है। इस प्रकार प्रदेश में अब नगर निगमों की संख्या 17, नगर पालिका परिषद की संख्या 200 और नगर पंचायतों की संख्या 518 हो जाएंगी।

नई नगर पंचायतों के गठन और पुराने के विस्तार के बाद प्रदेश के शहरी क्षेत्र की जनसंख्या में 905700 और 57474 हेक्टेयर क्षेत्रफल की वृद्धि हुई है। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार राष्ट्रीय स्तर पर 31.16 प्रतिशत शहरी क्षेत्र है। 

आंकड़े़ के मुताबिक प्रदेश में मात्र 22 फीसदी ही शहरी क्षेत्र है। इस हिसाब से यूपी काफी पीछे है। इसे ध्यान में रखकर ही प्रदेश सरकार प्रदेश में शहरीकरण का आंकड़ा बढ़ाने पर ध्यान दे रही है।

बता दें कि प्रदेश सरकार ने पिछले दिनों ही 20 हजार की आबादी वाले कस्बों में रहने वाले लोगों को भी शहरी सुविधाएं देने के लिए नगर पंचायतों के गठन का फैसला किया था। इसी कड़ी में नगर विकास विभाग ने प्रस्ताव तैयार किया था। जिसे कैबिनेट से मंजूरी दिलाई गई है।


👉 इन 28 नई नगर पंचायतों का हुआ गठन। 

- रामसनेही घाट (बाराबंकी), खिरौनी-सचित्तागंज व कुमारगंज (अयोध्या), कंचौसी (कानपुर देहात), असोथर (फतेहपुर), ढकवा (प्रतापगढ़), चरवा (कौशांबी), रामगंज (प्रतापगढ़), महमूदपुरमाफी (मुरादाबाद), सूजाबाद (वाराणसी), सैदनगली (अमरोहा), जवां सिंकन्दरपुर, गभाना, टप्पल व बरौली (अलीगढ़), मऊ (चित्रकूट), राजेसुल्तानपुर व जहांगीरगंज (अंबेडकर नगर), कैसरगंज(बहराइच), रटौल (बागपत), रतसड़कला (बलिया), कप्तानगंज, मुंडेरवा व नगर बाजार व गणेशपुर (बस्ती), कलान (शाहजहांपुर), अचलगंज (उन्नाव), चौक (महराजगंज)

👉 इन निकायों के सीमा का हुआ विस्तार। 

नगर निगम:

👉 वाराणसी: वाराणसी नगर निगम की सीमा में 9 राजस्व ग्रामों को शामिल करते हुए सीमा का विस्तार किया गया है।

👉 गोरखपुर:- गोरखपुर नगर निगम में एक राजस्व ग्राम को शामिल किया गया है।

👉 नगर पालिका परिषद- नवाबगंज (बाराबंकी) बहराइच, चित्रकूट, कन्नौज, भदोही, जायस (अमेठी), पुखरायां (कानपुर देहात), गौरा बरहज (देवरिया), मारहरा (एटा)।

👉 नगर पंचायते- हरगांव (सीतापुर), परशदेपुर (रायबरेली), औरास (उन्नाव), गोलाबाजार (गोरखपुर), बबेरू, नरैनी व तिंदवारी (बांदा), कुलपहाड़ (महोबा), ओबरा व चोपन (सोनभद्र), हरैया (बस्ती), रामपुरा (जालौन)



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें