Ticker

6/recent/ticker-posts

योगी सरकार एवं जलशक्ति मंत्रालय द्वारा, यूपी में धनतेरस की गिफ्ट। Irrigation Department:

 जल शक्ति मंत्री की कार्य पारदर्शीता एवं प्रयास प्रशंसनीय, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

यूपी में धनतेरस की गिफ्ट: योगी सरकार और जलशक्ति मंत्रालय द्वारा विभाग के कार्य प्रभावित न हो। इसके लिए विभाग को 1438 जूनियर इंजीनियर मिले। डॉ महेंद्र सिंह 

सिंचाई और जल संसाधन विभाग को मिले 1438 नए जूनियर इंजीनियर, सभी युवाओं को मनचाहे जिलों में मिलीं तैनाती मुख्यमंत्री योगी और जलशक्ति मंत्री डॉ। महेंद्र सिंह।

उ.प्र. राज्य सरकार युवाओं को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर उपलब्ध कराने के लिए कृतसंकल्पित।

जलशक्ति विभाग द्वारा अभियन्ताओं का निष्पक्ष चयन एवं पदस्थापन अन्य विभागों के लिए उदाहरण है, जनशक्ति से जलशक्ति विभाग की ताकत बढ़ेगी और प्रधानमंत्री की मंशा के अनुरूप विभाग को नई ऊँचाइयों तक ले जाने में मदद मिलेगी, जो लोककल्याण में सहायक होगा; योगी आदित्यनाथ।

 सीएम योगी ने पांच चयनित जूनियर इंजीनियरों को अपने आवास पर नियुक्ति पत्र अपने हाथों से सौंपा। सीएम योगी बोले- योग्यता ही है यूपी में नौकरी का एक मात्र मानक, सभी को मिली मनचाही तैनाती, मुख्यमंत्री योगी जी के हाथों नियुक्ति पत्र पा कर अभयर्थियों के चेहरे खिल उठे। योगी सरकार ने गुरुवार को धनतेरस पर्व पर उत्तर प्रदेश के करीब डेढ़ हजार युवाओं को बड़ी सौगात दी है। 



सीएम योगी ने आज सिंचाई और जल संसाधन विभाग में नवचयनित 1,438 नए जूनियर इंजीनियरों को नियुक्ति पत्र दिया। खास बात यह रही कि सभी जूनियर इंजीनियरों को उनके मनमाफिक जिलों में तैनाती का तोहफा मिला। सीएम योगी ने कहा- उत्तर प्रदेश में जुगाड़ नहीं योग्यता ही चयन का मानक है। आज जो युवा वर्ग पा रहे हैं, वह समर्थन योग्य है। 

राजधानी लखनऊ के 5 कालिदास मार्ग स्थित अपने आवास पर सीएम ने 5 नवचयनित अवर अभियंताओं को अपने हाथों से नियुक्ति और पदस्थापना पत्र सौंपा है। वहीं, विभिन्न जनपदों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े चयनित अभ्यर्थियों ने नियुक्ति पत्र प्राप्त किया। मुख्यमंत्री ने दशकों से लंबित बाणसागर परियोजना के पूरा होने और बाढ़ राहत कार्यों का उदाहरण देते हुए पिछले पौने चार साल में सिंचाई और जल संसाधन विभाग में जिस लगन और ईमानदारी के साथ काम किया है। अन्य विभागों के लिए अनुकरणीय है। उन्होंने नवचयनित अवर अभियंताओं को उनकी महती जिम्मेदारी का आभास कराया। उन्होंने कहा कि आज नियुक्ति होने से विभाग को एक नई जनशक्ति प्राप्त हुई। 

जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने कहा कि सिंचाई और जल संसाधन विभाग में एक लम्बे अर्से से अवर अभियंताओं की भर्ती न हो पाने और कार्मिकों के लगातार 2 पुनर्वास शामिल होने के कारण बड़ी संख्या में जूनियर इंजीनियरों की कमी हो गई थी। विभाग के कार्य प्रभावित न हो इसके लिए सरकार द्वारा राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा 1438 जूनियर इंजीनियर सेवाओं का चयन किया गया। इसके पूर्व पिछले वर्ष 394 सहायक अभियंताओं और 149 सहायक अभियन्ता (यांत्रिक) की भर्ती भी विभाग में लोक सेवा आयोग द्वारा की गई। महिला सशक्तीकरण अभियान को प्रभावी बनाने के लिए दिसंबर 2018 में 73 महिला जूनियर कर्मचारियों की विशेष भर्ती भी विभाग में की गई।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ