Ticker

6/recent/ticker-posts

Vikas_Dubey_Kanpur_Vala ; कब खत्म होगा विकास दुबे के खौफ एवं तालमेल का खेल । विकास एवं गुर्गों की 200 शस्त्र लाइसेंस की फाइलें गायब, लिपिक पर केस।

बिकरू कांड:Vikas_Dubey_Kanpur_Vala ; कब खत्म होगा विकास दुबे के खौफ एवं तालमेल का खेल । विकास एवं गुर्गों की 200 शस्त्र लाइसेंस की फाइलें गायब, लिपिक पर केस ।

6AM NEWS TIMES Lucknow 

                               विकास दुबे (फाइल फोटो)

फाइलों में शहर के प्रमुख लोगों से भी जुड़ी बताई जा रही। 

विकास दुबे के शस्त्र लाइसेंस की फाइल गायब होने के मामले की जांच में बड़ा खुलासा हुआ है। विकास दुबे समेत 200 लोगों की शस्त्र लाइसेंस की फाइलें असलहा विभाग से गायब हैं।

जांच में दोषी पाए गए तत्कालीन सहायक शस्त्र लिपिक (वर्तमान में एसीएम द्वितीय के रीडर) विजय रावत पर मंगलवार रात प्रशासन की तरफ से कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

बिकरू कांड के बाद पुलिस ने विकास दुबे समेत गांव के एक-एक शस्त्र लाइसेंस धारकों पर कार्रवाई करते हुए उनके लाइसेंस निरस्त कर दिए थे। इस दौरान पता चला कि वर्ष-1997 में विकास दुबे ने जो अपना पहला शस्त्र लाइसेंस बनवाया था, उसकी फाइल गायब है।

इसके बाद जिलाधिकारी के आदेश पर मामले की जांच शुरू की गई। इसमें पता चला कि विकास के शस्त्र लाइसेंस समेत 200 फाइलें गायब हैं। ये फाइलें 131 से 330 क्रमांक तक की हैं।

तत्कालीन सहायक शस्त्र लिपिक विजय रावत की अभिरक्षा में रखी गई थीं। प्रशासन ने विजय रावत को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया। इस संबंध में वह कोई जानकारी नहीं दे सके।

प्रशासन की जांच में विजय दोषी पाए गए। कोतवाली इंस्पेक्टर संजीवकांत मिश्र ने बताया कि कलक्ट्रेट के क्लर्क वैभव अवस्थी की तहरीर पर विजय रावत पर विश्वास का आपराधिक हनन (धारा 409 आईपीसी) के तहत केस दर्ज किया गया है। जांच कर साक्ष्यों के आधार पर आरोपी पर कार्रवाई की जाएगी।

असलहा विभाग से गायब हुईं 200 फाइलों में कुछ शहर के प्रमुख लोगों से भी जुड़ी बताई जा रही हैं। मामले में जिला प्रशासन के कर्मचारियों और अधिकारियों की मिलीभगत सामने आ सकती है। जिलाधिकारी आलोक तिवारी ने बताया कि पूरे मामले की छानबीन शुरू की जा रही है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ