राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

Irrigation Department ; नहर की सफाई न होने की शिकायत पर शिकायतकर्ता का होगा सम्मान। और जिम्मेदार के खिलाफ कड़ी कार्यवाही का प्रावधान।


नहर की सफाई न होने की शिकायत पर शिकायतकर्ता का होगा सम्मान। और जिम्मेदार के खिलाफ कड़ी कार्यवाही का प्रावधान। 

किसान के खेत तक पर्याप्त पानी पहुंचाना हमारी सरकार की प्राथमिकता। डॉ महेन्द्र सिंह 



जलशक्ति मंत्री डॉ महेन्द्र सिंह द्वारा जनपद बाराबंकी सिल्ट सफाई अभियान का शुभारम्भ। 

👉  विधायक निधि, सांसद निधि तो सबने सुन रखी थी मगर प्रधानमंत्री ने किसान सम्मान निधि देकर अन्नदाताओं को ताकत दी। 

👉  गत वर्ष 47 हजार किमी नहरों की सफाई कर टेल तक पानी पहुंचाया गया था। 


उत्तर प्रदेश के जलशक्ति मंत्री डॉ महेन्द्र सिंह ने कहा है कि प्रदेश की समस्त नहर प्रणालियों की शत्-प्रतिशत सिल्ट सफाई करायी जायेगी। यदि कोई व्यक्ति इंगित करेगा कि उसके क्षेत्र की नहर की सफाई नहीं हुई है तो उसे सम्मानित किया जायेगा और सम्बन्धित अधिकारी की जवाबदेही तय करते हुए उस नहर की सफाई एवं पुलिया आदि की मरम्मत एवं रगाई पुताई प्राथमिकता के आधार पर सुनिश्चित करायी जायेगी।


जलशक्ति मंत्री, डॉ महेन्द्र सिंह आज जनपद बाराबंकी के त्रिवेदीगंज विकासखण्ड के अन्तर्गत रायपुर गांव के समीप नहर में फावड़ा चलाकर सिल्ट सफाई अभियान का शुभारम्भ कर रहे थे। उन्होंने कहा कि लोग किसानो को अन्नदाता कहते हैं लेकिन हमारी सरकार ने उनको सम्मान देकर उनकी खुशहाली के लिए जमीनी स्तर पर कार्य किया है। गत वर्ष 47 हजार किमी नहरों की सफाई कर टेल तक पानी पहुंचाया गया था और अबकी बार भी मा0 मुख्यमंत्री जी के कुशल मार्गदर्शन से सभी नहरों की सफाई करायी जायेगी।


जलशक्ति मंत्री ने कहा कि गत वर्ष सिल्ट की नीलामी से 484 लाखरूपये के धनराशि प्राप्त हुई थी। और अकेले बाराबंकी जनपद की सिल्ट की नीलामी से 82 लाख रूपये की धनराशि प्राप्त हुई थी। उन्होंने कहा कि इस बार भी निकाली गयी सिल्ट की नीलामी करायी जायेगी। उन्होंने कहा कि विधायकों एवं सांसदों का सम्मान तो होता रहा है लेकिन पहली बार देश के यशस्वी प्रधानमंत्री ने किसान सम्मान निधि योजना एवं प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना शुरू करके किसानों का सम्मान बढ़ाया है।

डॉ सिंह ने कहा कि नहरों की सफाई के लिए अभियान आज से 15 नवम्बर 2020 तक चलेगा और टेल तक पानी पहुंचाया जायेगा। बाराबंकी जनपद में कुल 301 नहरें हैं। जिनमें से 290 की सिल्ट सफाई हेतु प्रस्तावित है। इन नहरों की कुल लंबाई 16 किलोमीटर है, जिसमें से 1396 किलोमीटर की सिल्ट सफाई होनी है। सिल्ट सफाई का कार्य एवं स्क्रेपिंग का कार्य जल उपभोक्ता समिति के माध्यम से कराया जा रहा है।

    इस अवसर पर सांसद श्री उपेंद्र सिंह रावत, विधायक, श्री बैजनाथ रावत,जनप्रतिनिधि श्री अवधेश श्रीवास्तव, अपर मुख्य सचिव सिंचाई, श्री टी. वेंकटेश, प्रमुख अभियन्ता एवं विभागाध्यक्ष सिंचाई श्री आर.के. सिंह, प्रमुख अभियन्ता परिकल्प एवं नियोजन, श्री ए.के.सिंह, शारदा सहायक संगठन के मुख्य अभियन्ता श्री ए.के.सिंह तथा मुख्य अभियन्ता श्री डी.के.मिश्रा, उप-जिलाधिकारी प्रतिपाल चैहान, ए.के.सिंह, आर.के. जैन व अन्य संबंधित अधिकारी सहित ग्रामवासी मौजूद रहे।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें