राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

UPPSC का रिजल्ट घोषित कर दिया है कोई बना पुलिस उपाधीक्षक तो कोई खंड विकास अधिकारी।

 उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) ने पीसीएस-2018 का रिजल्ट घोषित कर दिया है. इस बार टॉप थ्री में लड़कियों ने बाजी मारी है. यूपीपीसीएस परीक्षा 2018 में पानीपत की अनुज नेहरा ने पहली रैंक हासिल की. दूसरे स्थान पर गुड़गांव की संगीता राघव और तीसरे स्थान पर मथुरा की ज्योति शर्मा रहीं. चौथे स्थान पर जालौन के विपिन कुमार शिवहरे व पांचवें स्थान पर पटना के कर्मवीर केशव रहे।

इसी क्रम में सार्थक बने पुलिस उपाधीक्षक । 

सिंचाई विभाग में चीफ इंजीनियर रहे श्री ए.के.सेंगर (सेवा निवृत मुख्य अभियंता पैक्ट व राम गंगा, एवं मध्य गंगा संगठन )के सुपुत्र सार्थक सेंगर यूपी पी.सी.एस.-2018 मे डिप्टी एस.पी.के पद चयनित हुए हैं। आर्मी स्कूल में पढ़े सार्थक ने रुड़की से आईआईटी की है और इन दिनों आईआईएम काशीपुर में अध्ययन कर रहे हैं।

                                   सार्थक सेंगर

गौरीशा श्रीवास्तव खंड विकास अधिकारी के पद पर चयनित हुईं। 

गौरीशा श्रीवास्तव 2018 के यूपी पीसीएस में खंड विकास अधिकारी के पद पर चयनित हुईं। गौरीशा श्रीवास्तव पुत्री सीमा श्रीवास्तव एवं श्री ओ. पी. श्रीवास्तव एसडीओ सिंचाई विभाग लखनऊ ।गौरीशा सी एम यस स्कूल मे captain रहीं. 10 ,12 & B TECH me हमेशा ससम्मान उत्तीर्ण हुई


                                 गौरीशा श्रीवास्तव

यूपीपीसीएस परीक्षा में 988 पदों के लिए 976 अभ्यर्थी सफल हुए हैं. आयोग के मुता​बिक सूचना अधिकारी व जिला सूचना अधिकारी के 12 पदों के लिए उपयुक्त अभ्यर्थी नहीं मिल पाए, जिस वजह से इन पदों को खाली छोड़ दिया गया है. इस परीक्षा के लिए हुए इंटरव्यू में 2669 अभ्यर्थी सफल हुए. इंटरव्यू में 68 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे. पीसीएस 2018 के लिए इंटरव्यू 15 जुलाई से 25 अगस्त तक हुआ था. यह जानकारी यूपी लोक सेवा आयोग के सचिव जगदीश ने दी है.

यूपीपीसीएस परीक्षा 2018 का रिजल्ट अयोग की बेवसाइट http://uppsc.up.nic.in/ पर देख सकते हैं.

30 मार्च 2019 को घोषित किया गया था प्रारंभिक परीक्षा का परिणा। 

PCS और ACF/RFO की प्रारंभिक परीक्षा 28 अक्तूबर 2018 को हुई थी. यह पहला मौका था जब यह सभी परीक्षाएं एक साथ करवाई गई थी. प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम 30 मार्च 2019 को घोषित किया गया था. 988 पदों के लिए 19096 अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा के लिए सफल घोषित किया गया था. उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने हाईकोर्ट के आदेश पर 5/10/2019 को प्रारंभिक परीक्षा के परिणाम में बदलाव करते हुए, उत्तर प्रदेश के बाहर की 160 महिला अभ्यर्थियों को भी मुख्य परीक्षा के लिए सफल किया था. मुख्य परीक्षा 18-22 अक्टूबर 2019 तक प्रयागराज और लखनऊ में हुई थी, जिसमें 16738 परीक्षार्थी शामिल हुए थे.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें