राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

Prayagraj : Atiq Ahme बाहुबली अतीक अहमद की अब तक 200 करोड़ की अवैध संपत्ति कुर्क।

 अब बाहुबली अतीक के करीबियों के खिलाफ कार्रवाई तेज, भाई अशरफ के रिश्तेदार का मकान जमींदोज। 


19 Sep 2020, 03:06:00 PM

Prayagraj News: प्रयागराज के झूसी के अंदावा में बाहुबली अतीक अहमद (d) के ड्रीम प्रोजेक्ट किसान कोल्ड स्टोरेज पर सरकारी बुलडोजर चलाए जाने के बाद उसके करीबियों के खिलाफ कार्रवाई तेज हो गई है।

हाइलाइट्स:
पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ के ससुरालियों के खिलाफ भी अब कार्रवाई में जुटा प्रशासन। 
 बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद और उनके करीबियों पर शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। 
पूर्व सांसद के भाई अशरफ के रिश्तेदार मोहम्मद जैद की कौशांबी स्थित करोड़ों की आलीशान बिल्डिंग ढहा दी गई

गुजरात जेल में बंद बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद और उनके करीबियों पर शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। अतीक अहमद के भाई अशरफ के रिश्तेदार मोहम्मद जैद की कौशांबी स्थित करोड़ों की आलीशान बिल्डिंग ढहा दी गई। प्रयागराज के झूसी के अंदावा में बाहुबली के ड्रीम प्रोजेक्ट किसान कोल्ड स्टोरेज पर सरकारी बुलडोजर चलाए जाने के बाद अतीक अहमद के करीबियों के खिलाफ कार्रवाई तेज हो गई है।

अतीक अहमद के भाई व पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ के ससुरालियों के खिलाफ भी पुलिस और प्रशासन अब कार्रवाई में जुट गया है। प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने अतीक अहमद के भाई अशरफ के साले मोहम्मद जैद के करोड़ों के आलीशान बिल्डिंग पर भी सरकारी बुलडोजर चलाकर उसे जमींदोज कर दिया है। तीन साल से फरार चल रहे अशरफ को तीन जुलाई को क्राइम ब्रांच और पुलिस ने उसके ससुराल में इसी मकान से गिरफ्तार किया था।

कौशांबी के हटवा गांव में थी दो मंजिला इमारत। 

दरअसल कौशाम्बी जिले के पूरा मुफ्ती थाना अन्तर्गत सल्लाहपुर चौकी क्षेत्र के हटवा गांव में अशरफ के साले जैद ने करोड़ों की लागत से 600 वर्ग मीटर भूमि पर दो मंजिला आलीशान बिल्डिंग खड़ी की थी। इसका नक्शा प्रयागराज विकास प्राधिकरण से स्वीकृत नहीं था। इसके साथ ही बिल्डिंग से सटी 800 वर्ग मीटर जमीन पर भी जैद ने कब्जा कर रखा था।

600 वर्ग मीटर में बनी बिल्डिंग जमींदोज 800 वर्ग मीटर पे अवैध कब्जा। 

प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने नगर नियोजन एवं विकास अधिनियम 1973 के तहत विधिक ध्वस्तीकरण आदेश पारित कर यह कार्रवाई की है। ध्वस्तीकरण की कार्रवाई से पहले बिल्डिंग को खाली कराया गया और बाउन्ड्रीवाल को सबसे पहले ध्वस्त किया गया। इसके बाद 600 वर्ग मीटर में बने भवन को जेसीबी मशीनें लगाकर जमींदोज कर दिया गया।

अतीक के फरार भाई को पुलिस ने किया गिरफ्तार। 

अशरफ की तीन साल तक फरार रहने के दौरान उसके ससुराल में ही रहने की पुलिस को कई बार सूचना मिली थी लेकिन पुलिस की छापेमारी के पहले ही उसे खबर लग जाती थी और वह फरार हो जाता था। अशरफ पर गिरफ्तारी के लिए एक लाख का इनाम भी घोषित किया गया था। पुलिस ने उसे तीन जुलाई को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। अशरफ के ससुरालियों पर भी जमीन के धंधे में अवैध रुप से पैसे कमाने और अपराध से सम्पत्ति अर्जित करने का आरोप है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें