राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

Allahabad university : विषय चुनने की आजादी के साथ। बीएससी और बीकॉम की प्रवेश परीक्षा शनिवार को।


 इलाहाबाद विश्वविद्यालय एवं संबद्ध कॉलेजों में स्नातक में विषय चुनने की पुरानी प्रक्रिया बहाल कर दी गई है। बीएससी और बीकॉम की प्रवेश परीक्षा शनिवार को। 

करिश्मा गांगुली 6AM NEWS TIMES 

इलाहाबाद विश्वविद्यालय एवं संबद्ध कॉलेजों में दाखिले के लिए शनिवार यानी 26 सितंबर को बीएससी (गणित, बायो, गृह विज्ञान) और बीकॉम की प्रवेश परीक्षा होगी। यह परीक्षा 11 शहरों के 77 केंद्रों पर दो पालियों में ऑनलाइन एवं ऑफलाइन मोड़ में आयोजित की जाएगी। 26 सितंबर की दोनों पालियों की परीक्षा में शामिल होने के लिए 35654 छात्र-छात्राएं पंजीकृत हैं। 

 ज्ञात रहे कि 26 सितंबर को पहली पाली में सुबह 9.30 से 11.30 बजे के मध्य बीएससी (मैथ और बॉयो) की परीक्षा ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों मोड में होगी। दूसरी पाली में अपराह्न 2 बजे से 4 बजे मध्य बीकॉम और बीएससी होम साइंस की प्रवेश परीक्षा होगी। बीएससी मैथ के लिए 17707, बीएससी बायो के लिए 7635, बीएससी गृह विज्ञान के लिए 91 और बीकॉम के लिए 10221 छात्र-छात्राओं ने आवेदन किया है। बैंगेलुरू, दिल्ली, गोरखपुर, झांसी, कानपुर, कलकत्ता, लखनऊ, पटना तिरून्नाथपुरम, वाराणसी और प्रयागराज के 45 ऑफलाइन और 32 ऑनलाइन केंद्रों पर परीक्षा होगी। वहीं, प्रयागराज में परीक्षा के लिए 27 ऑफलाइन और 11 ऑनलाइन सेंटर बनाए गए हैं।

प्रवेश प्रकोष्ठ के निदेशक प्रो. प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि परीक्षा की तैयारी पूरी कर ली गई है। पहले दिन यानी 26 सितंबर को स्नातक (बीएससी, बीकॉम) के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाएगी। इन पाठ्यक्रमों के लिए विभिन्न शहरों से 35654 अभ्यर्थियों ने ऑनलाइन आवेदन किया है।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय : तीन-तीन विषयों के 99 कॉम्बिनेशन तैयार, इस के आधार पर लिए जाएंगे दाखिले

  

इलाहाबाद विश्वविद्यालय एवं संबद्ध कॉलेजों में स्नातक में विषय चुनने की पुरानी प्रक्रिया बहाल कर दी गई है। छात्रों के लिए प्रवेश प्रकोष्ठ ने तीन-तीन विषयों के 99 कॉम्बिनेशन तैयार किये हैं। इसी के आधार पर शैक्षिक सत्र 2020-21 में प्रवेश लिए जाएंगे। विद्यार्थी एक साथ भाषा के तीन विषयों का चयन नहीं कर सकेंगे। भाषा के दो विषयों के साथ एक अन्य विषय भी लेना होगा। 

इसी तरह इतिहास में एक विषय ही दिया जाएगा बाकी के दो विषय उसे कोई दूसरे लेने होंगे। वहीं बीए में सांख्यिकी या गणित विषय लेने वाले को शेष दो विषयों का चुनाव अर्थशास्त्र, भूगोल, प्रतिरक्षा अध्ययन , मनोविज्ञान और मानव विज्ञान में से करना होगा। इस बार प्रवेश के लिए स्नातक के अभ्यर्थियों से आवेदन के साथ ही दस विकल्प भरवा लिया गया है। 

ज्ञात हो कि पिछले सत्र के लिए हुए दाखिले में 100 विषयों की बजाय 27 सौ से अधिक विषयों से अपने विकल्प के आधार पर प्रवेश लिया गया था। जिसके चलते कक्षाओं के संचालन में काफी समस्याएं सामने आ रही थी। एक ही समय पर छात्रों के दो-दो विषयों की कक्षाएं होती थी। जिससे छात्र को किसी एक विषय की कक्षा छोड़नी पड़ती थी। 


प्रवेश परीक्षा के निदेशक प्रो. प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि नए सत्र में बीए में दाखिले के लिए तीन-तीन विषयों के 99 कॉम्बिनेशन तैयार किए गए हैं। प्रवेश परीक्षा में प्राप्तांक के आधार पर छात्रों को विषय कॉम्बिनेशन दिए जाएंगे। प्रो. अग्रवाल ने यह भी बताया कि इस बार छात्रों से आवेदन के साथ ही दस विषय कॉम्बिनेशन भरवा लिया गया है। 26 सितंबर से प्रवेश परीक्षाएं शुरू होंगी। उम्मीद है कि 6 अक्तूबर से स्नातक में प्रवेश के लिए काउंसिलिंग शुरू हो जाएगी।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें