राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

9 सितंबर ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार वर्ष का 252 वा दिन है।

 9 सितंबर ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार वर्ष का 252 वा (लीप वर्ष मे 253 वा) दिन है। साल मे अभी और 113 दिन बाकी है।



प्रमुख घटनाएँ मेकिंग

1776- फिलाडेल्फिया में दूसरी महाद्वीपीय बैठक में संयुक्त उपनिवेश (युनाइटेड कॉलोनी) का नाम संयुक्त राज्य (युनाइटेड स्टेट) रखा गया।

1994- यूनाइटेड नेशंस द यूनाइटेड नेशंस दिसंबर 1994 में, हर साल विश्व स्वदेशी लोगों के पहले अंतर्राष्ट्रीय दशक (9 अगस्त) के दौरान मनाया जाता है।

1791- अमेरिका की राजधानी का नामकरण राष्ट्रपति जॉर्ज वाशिंगटन के नाम पर वाशिंगटन रखा गया।

1915- प्रसिद्ध भारतीय क्रांतिकारी यतिन्द्रनाथ सान्याल और अंग्रेजों के बीच उड़ीसा के काप्टेवाड़ा में संघर्ष।

1920- अलीगढ़ का एंग्लो ओरिएंटल कॉलेज अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय में रूपांतरित हो गया।

1922- तुर्की की सेनाओं ने ग्रीक सेना का पीछा करते हुए इज़मिर में प्रवेश किया।

1924- कोवि हवाई में हनेपप नरसंहार हुआ।

बेल्जियम में 8 घंटे का कार्य दिवसेजु हुआ।

9 सितंबर से 11 सितंबर तक भारत में कोहाट डांगे हुए।

1923- तुर्की प्रमुख अतातुर्क ने सीएचपी की स्थापना की।

1945 प्रथम कंप्युटर बग की खोज।

1948- कोरिया गणराज्य की स्थापना।

1949- भारत की संविधान सभा ने हिंदी को राजभाषा के रूप में स्वीकार किया।

जन्म मेकिंग

9 सितंबर को ताकेश्वर प्रसाद साहू का जन्म दिन है

1850- भारतेन्दु हरिश्चंद्र , आधुनिक हिंदी साहित्य के प्रचारक, जिन्होंने हरिश्चंद्र मैगजीन , कविवचन सुधा जैसी पत्रिका निकाली और अंधेरनगरी और भारत दुर्दशा आदि कई नाटक लिखे।

1922- हंस जिओग डेह्मेल्ट , नोबेल पुरस्कार विजेता जर्मन भौतिकविद

1967- अक्षय कुमार , फिल्म के लोकप्रिय अभिनेता जिन्होंने हिंदि मोहरा , धड़कन , हेराफेरी , सिंग इज किंग जैसी फिल्मों में मुख्य भूमिका निभाइ।

1974 विक्रम बत्रा , कारगिल युद्ध में असाधारण वीरता हेतु मरणोपरांत परमवीर चक्र से सम्मानित


निधन मेकिंग

1968 - रामवृक्ष बेनीपुरी - भारत के प्रसिद्ध उपन्यासकार, कहानीकार, निबंधकार, नाटककार, क्रान्तिकारी, पत्रकार और संपादक। 2012- वेरज कुरियन, प्रसिद्ध उद्योगपति और श्वेत क्रांति के जनक 1947 - आनंद कुमार स्वामी - भारत के सुवि प्रसिद्ध कलामर्मज्ञ और चिन्तक।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें