राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

Yogi Sarkar 2.0 ; योगी का यूपी बनेगा वन ट्रिलियन डॉलर इकनॉमी

 

  योगी का यूपी बनेगा वन ट्रिलियन डॉलर इकनॉमी !  लखनऊ में हो रहा भव्य आयोजन,  

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी 3.0: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उद्योगपतियों के स्वागत को तैयार लखनऊ

   80 हजार करोड़ की 1406 परियोजनाओं का होगा शिलान्यास।  

6 AM NEWS TIMES : Edited by. Ravindra yadav Lucknow 9415461079, 03, Jun, 2022 : Fri, 03 : 07 AM 




उत्तर प्रदेश को वन ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी बनाने के लिए तीसरे ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी का आयोजन, सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में प्रधानमंत्री 80 हजार करोड़ रुपये से अधिक की 1406 परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे।


परियोजनाओं में कृषि और संबद्ध, आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स, एमएसएमई, विनिर्माण, अक्षय ऊर्जा, फार्मा, पर्यटन, रक्षा एवं एयरोस्पेस, हथकरघा तथा कपड़ा आदि जैसे विविध क्षेत्र शामिल हैं। इस समारोह में देश के उद्योग जगत के दिग्गज शामिल होंगे। लखनऊ में किया जा रहा है. इस कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी भी मौजूद रहेंगे, 



[ उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था बेहतर होने के साथ साथ, युवाओं के लिए 5 लाख नौकरियां और रोजगार के बेहतर अवसर होगें प्राप्त, कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लखनऊ में मौजूद रहेंगे ] 


ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में देशभर में कई बड़े उद्योगपति हिस्सा लेंगे, सरकार उद्योगपतियों को ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस रैंकिंग में यूपी के दूसरे नम्बर पर होने का हवाला देकर ज़्यादा से ज़्यादा निवेश करने के लिए प्रोत्साहित करेगी, सरकार का लक्ष्य 80,000 करोड़ रूपए के निवेश का है, इसमें कुल 1406 कम्पनियां शामिल हो रही हैं, इसमें 500 करोड़ से अधिक वाली 30 कम्पनियां कुल 43,906 करोड़ रूपए का निवेश कर सकती हैं. वहीं 100 से 499 करोड़ रूपए वाली 108 कम्पनियां 24,028 करोड़ रूपए का इनवेस्टमेंट कर सकती हैं। 



[ बड़े उद्योगपतियों के साथ छोटे निवेशकों पर भी ध्यान ] 

शुक्रवार को होने वाले आयोजन में डाटा सेंटर, कृषि, आईटी एंड इलेक्ट्रानिक्स, इंफ्रास्ट्रक्चर, मैनुफैक्चरिंग, हैंडलूम्स एंड टेक्सटाइल, रिन्यूबल एनर्जी, एमएसएमई, हाउसिंग एंड कॉमर्षियल, हेल्थ केयर, वेयरहाउसिंग एंड लॉजिस्टिक, डिफेंस एंड एयरोस्पेस फार्मास्यूटिकल एंड मेडिकल सप्लाई, एजुकेषन, डेयरी शामिल हैं. सरकार बड़े उद्योगपतियों के अलावा छोटे निवेशकों को यूपी के अलग अलग ज़िलों में निवेश करने के लिए बेहतर सुविधाएं देने की कोशिश कर रही है. साथ ही स्टार्टअप्स को भी सुविधाएं और सहूलियतें देकर रोजगार के नए अवसर पैदा करने की कोशिश कर रही है.


[ योगी सरकार को 80 हजार करोड़ रुपये के निवेश की है उम्मीद ] 


यूपी के औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने एबीपी न्यूज़ से बताया कि यूपी निवेश के लिए सबसे बेहतर राज्य है। यहां 25 करोड़ लोगों का बड़ा बाज़ार होने कर साथ साथ राज्य ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस रैंकिंग में नम्बर 2 पर पहुंच गया है. यूपी में सबसे ज़्यादा एक्सप्रेसवे, सबसे ज़्यादा एयरपोर्ट और तमाम ऐसी सुविधाएं हैं जिससे निवेशक बेख़ौफ़ होकर निवेश कर सकता है. उन्होंने बेहतर कानून व्यवस्था को भी निवेश करने के बड़े कारण के तौर पर गिनाते हुए कहा कि इस आयोजन से 80 हज़ार करोड़ रुपये की निवेश की सरकार उम्मीद कर रही है.


[ यूपी एक बड़े और सुरक्षित बाजार के रूप में ले रहा आकार ] 


उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि यूपी में यमुना एक्सप्रेसवे, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे और लखनऊ आगरा एक्सप्रेसवे पहले से है. बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे लगभग तैयार हो चुका है. इसके अलावा कई एक्सप्रेसवे पर काम चल रही है. वर्तमान में 9 एयरपोर्ट्स चल रहे हैं जबकि 5 पर काम चल रहा है. इसके अलावा 7 एयरपोर्ट्स और भी प्रस्तावित हैं. राज्य में कानून व्यवस्था बेहतर और और साथ ही 25 करोड़ की आबादी वाला एक बड़ा बाज़ार है जो निवेशकों को लुभा रहा है. निर्यात के क्षेत्र में भी यूपी ने बीते 5 साल में बेहतर प्रदर्शन किया है. ऐसे में निवेशक अगर यूपी में निवेश करता है तो उसका भी लाभ होगा और यूपी का भी. इसी वजह से तीसरे ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी से राज्य सरकार को बहुत उम्मीदें हैं.


[ योगी का यूपी बनेगा वन ट्रिलियन डॉलर इकनॉमी ] 


पहले ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी का आयोजन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में 29 जुलाई 2018 को हुआ था. इसमें 61,800 करोड़ से अधिक का निवेश हुआ था. पहले आयोजन में 81 परियोजनाओं की शुरूआत हुई थी. दूसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी 28 जुलाई 2019 को प्रधानमंत्री मोदी की ही अध्यक्षता में हुई. इसमें 67,000 करोड़ से अधिक का निवेश हुआ. इस आयोजन से राज्य में 290 परियोजनाएं शुरू हुईं. अब तीसरे आयोजन में सरकार 80 हज़ार करोड़ के निवेश के यूपी में आने की उम्मीद कर रही है. अगर ये लक्ष्य यूपी ने हासिल कर लिया तो निश्चित तौर पर वन ट्रिलियन डॉलर इकनॉमी के लक्ष्य की तरफ सरकार बड़ी छलांग लगा सकती है।






✔️✔️✔️✔️✔️✔️✔️✔️✔️✔️✔️✔️✔️✔️✔️✔️



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें