Ticker

6/recent/ticker-posts

Jal_Shakti_Mantri_Dr_Singh ; बाढ बचाव से संबंधित कार्यों को पूर्ण गुणवत्ता, पारदर्शिता एवं समयबद्धता के साथ पूरा करें।

 मुख्यमंत्री योगी जी के कुशल मार्गदर्शन मे बाढ बचाव से संबंधित कार्यों को पूर्ण गुणवत्ता, पारदर्शिता एवं समयबद्धता के साथ पूरा करें। डॉ महेन्द्र सिंह 

सब्सक्राइब करें। www.6amnewstimes.com lucknow 14 :03:2021 रविन्द्र_यादव लखनऊ।

उत्तर प्रदेश के जल शक्ति मंत्री डॉ महेन्द्र सिंह ने बाढ बचाव कार्यों को समयबद्धता गुणवत्ता एवं पूर्ण पारदर्शिता के साथ करने के लिए सिंचाई विभाग के अधिकारियों को दिये निर्देश। साथ ही कहा कि वर्ष 2020-21 में बाढ़ की कुल 254 परियोजनाएं चलित है। 146 बाढ़ परियोजनाओं का लोकार्पण मुख्यमंत्री जी द्वारा किया जा चुका है। शेष परियोजना मार्च, 2021 तक अवश्य पूर्ण कर ली जाए। उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के कुशल मार्गदर्शन मे उप्र बाढ़ नियंत्रण परिषद की स्थाई संचालन समित के द्वारा स्वीकृत परियोजनाओं में से 176 परियोजनाओं पर कार्य प्रारम्भ कराया जा चुका है। उन्होंने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिये है कि कार्याें को 15 मई 2021 तक पूर्ण अवश्य करा लिया जाए। ताकि वर्षा ऋतु के पूर्व कार्य पूर्ण होने से क्षेत्रीय जनता को बाढ़ से बचाव हेतु पूर्ण लाभ मिल सके।



डॉ सिंह ने बाढ परियोजनाओं एंवं ड्रेन की सफाई की प्रगति की समीक्षा वीडियों कान्फ्रेसिंग के माध्यम से की। इस समीक्षा बैठक में प्रमुख रूप से मुख्य अभियंता गंडक, गोरखपुर, मुख्य अभियंता गंगा, मेरठ, मुख्य अभियंता यमुना, ओखला, मुख्य अभियंता पूर्वी गंगा, मुरादाबाद, मुख्य अभियंता शारदा सहायक, लखनऊ, प्रबन्ध निदेशक, यूपीपीसीएल लखनऊ, अधीक्षण अभियंता, गाजीपुर/मऊ/सीतापुर/लखीमपुरखीरी एवं अधिशासी अभियंता बस्ती/बलिया/ महाराजगंज/गोंडा/बलरामपुर से बाढ़ की पूर्व से चलित एवं नई परियोजनाओं एवं ड्रेन की साफ सफाई तथा ड्रेन के पुल-पुलियों के मरम्मत के कार्याें की गहन समीक्षा की गयी। 

जल शक्ति मंत्री ने सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के अधिकरियों को निर्देश दिये कि समस्त कार्यों पर डिस्पेल बोर्ड लगाया जाए जिसमें परियोजना/ड्रेन का नाम, कार्य की लागत, कार्य कराने वाले अधिकारियों के नाम, फर्म का नाम, फर्म का कार्य, सेक्शन इत्यादि अंकित हो, ताकि जन सामान्य को कार्य की जानकारी हो। समस्त अधिकारियों द्वारा आश्वस्त किया गया कि बाढ़ की परियोजनाएं पूर्ण होने से जनपद बाढ़ से सुरक्षित हो जायेगा। 

डॉ सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि कार्य की गुणवत्ता के लिये कान्ट्रैक्टर एवं अवर अभियंताओं को संवदेनशील बनाया जाए एवं अच्छे कार्य के लिए प्रेरित किया जाए। माननीय जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासन की कार्याें में सहभागिता सुनिश्चित किया जाए। प्रत्येक साइट पर अवर अभियंताओं / सहायक अभियंताओं की जिम्मेदारी निर्धारित की जाए। बाढ़ की अधिक लागत की परियोजनाओं पर सीसीटीवी कैमरे लगवाये जाए।  

इस वीडियो कानफ्रेंसिंग मे समस्त क्षेत्रिय मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता एवं अधिशासी अभियंताओं ने प्रतिभाग किया। बैठक में अतिरिक्त, मुख्य सचिव,सिंचाई टी.वेंकटेश।  प्रमुख अभियंता एवं विभागाध्यक्ष, पी.के.निरंजन। प्रमुख अभियंता, परि एवं शोध ए.के.सिंह। एवं मुख्य अभियंता, बाढ़ उपस्थित रहे।




.......... 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Chat with 6AM-News-Times The admin will reply in few minutes...
Hello, How can I help you? ...
Click Here To Start Chatting...