राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

कार्यों में पूरी गुणवत्ता, समयबद्धता, प्रतिबद्धता एवं पारदर्शिता बरतने के निर्देश।Jal-Shakti Minister Dr Mahendra Singh

उ.प्र. यू.पी.पी.सी.एल कार्यों में पूरी गुणवत्ता, समयबद्धता, प्रतिबद्धता एवं पारदर्शिता बरतने के निर्देश। डॉ महेंद्र सिंह 

#Subscribe to #6am_news_times_lucknow डेली न्यूज़ पेपर #UP_लखनऊ_ से_प्रकाशित।



  उ.प्र. यू.पी.पी.सी.एल द्वारा कराये जा रहे कार्यों में गुणवत्ता एवं समयबद्धता हर स्तर पर कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित  किया जाए निर्माणाधीन परियोजनाओं को समय से पूरा कराया जाए बजट होने के बावजूद भी निर्माण कार्यों में लापरवाही बरतने वाले ठेकेदारों को कारपोरेशन से ब्लैकलिस्ट किया जाए - डॉ महेन्द्र सिंह 

बुधवार को देर रात गोमती नगर बैराज के नजदीक स्थित यू पी पी सी एल के सभागार में कारपोरेशन द्वारा कराये जा रहे कार्यों की समीक्षा कर रहे थे । डॉ सिंह ने कहा कि सभी महाप्रबन्धक यह सुनिश्चित करें कि उनके अधीनस्थ स्टाफ द्वारा कार्यों का स्थलीय निरीक्षण नियमित रूप से किया जा रहा है तथा निर्माणाधीन कार्यों का फोटोग्राफ्स जोन कार्यालय को उपलब्ध कराये जा रहे हैं अथवा नहीं । 


जलशक्ति मंत्री ने निर्देश दिए कि परियोजना प्रबन्धक संबंधित जोन के महाप्रबन्धक को कार्य की प्रगति प्रत्येक दिन रिपोर्ट करें । इसके साथ ही अधीनस्थ इकाइयों की सप्ताह में तथा प्रबन्ध निदेशक पाक्षिक बैठक कर भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की समीक्षा करें। 

डॉ महेन्द्र सिंह ने कहा कि शून्य से 50 प्रतिशत तक के 791 कार्य धन उपलब्धता एवं उपभोग प्रमाण पत्र की प्रेषित स्थिति के अनुसार मार्च 2021 तक पूरे करा लिए जाएं । इसी तरह 50 से 75 प्रतिशत के 319 कार्य फरवरी 2021 तक एवं 75 से 100 प्रतिशत के 475 कार्य माह दिसम्बर 2021 तक पूरा करा लिए जाएं । उन्होंने अपर मुख्य सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन टी वेंकटेश को निर्देश दिए कि सिंचाई विभाग के अधिक से अधिक  को दिया जाए ।

 प्रबन्ध निदेशक नवीन कपूर ने जलशक्ति मंत्री के समक्ष कारपोरेशन द्वारा कराये जा रहे 2980 कार्यों का विस्तार से ब्यौरा पेश किया , जिसमें से 1387 कार्य पूरे हो चुके हैं और इसमें से 661 कार्य हस्तान्तरित हो चुके हैं । अहस्तान्तरित परियोजना की संख्या 726 है एवं कारपोरेशन में 1585 परियोजनाएं प्रगति के विभिन्न चरणों में हैं 

अपर मुख्य सचिव सिंचाई टी वेंकटेश ने निर्माणाधीन योजनाओं के बारे में ठोस सुझाव दिए और उन्होंने मा मंत्री जी को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा दिए गए सभी निर्देशों का अक्षरशः पालन कराया जाएगा । समीक्षा बैठक में सचिव सिंचाई अनिल गर्ग , विशेष सचिव सिंचाई मुस्ताक अहमद , सीजीएम गोपाल मिश्र तथा अन्य जोनल महाप्रबन्धक उपस्थित थे ।




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें