राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

UP Hathrs, हाथरस गैंगरेप केस: परिजनों को घर में कैद कर रात 2.30 बजे पुलिसवालों ने किया अंतिम संस्कार।

हाथरस गैंगरेप केस: परिजनों को घर में कैद कर रात 2.30 बजे पुलिसवालों ने किया अंतिम संस्कार।

#6AM_NEWS_TIMES डेली न्यूज़ पेपर #लखनऊ_से_प्रकाशित। 


हाथरस गैंगरेप पीड़िता का रात के अंधेरे में अंतिम संस्कार करते यूपी पुलिस के अफसर। 

हाथरस गैंगरेप पीड़िता का अंतिम संस्कार यूपी पुलिस ने मंगलवार की रात अंधेरे में करीब 2.30 बजे कर दिया. आरोप है कि इस दौरान पुलिसवालों ने मृतक के परिजनों को घर में बंद कर दिया था. देर रात के दृश्यों में कैप्चर किए गए घटनाओं में विचलित करने वाला दृश्य कैद हुआ है, जिसमें पीड़ित परिवार को पुलिस के साथ बहस करते हुए देखा गया है। 



 मृतक के रिश्तेदार खुद शव ले जाने वाली एम्बुलेंस के आगे आ खड़े हुए और गाड़ी की बोनेट पर लद गए लेकिन पुलिसवालों ने उन्हें हटाकर दाह संस्कार कर दिया। गैंगरेप पीड़िता की मां दाह संस्कार के बाद असहाय होकर रोती रही। 



मृतक युवती के भाई का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें बताए बिना शव को घर से दूर ले गए और चुपचाप उसका अंतिम संस्कार कर दिया.मृतक के पिता और भाई पुलिस एक्शन के खिलाफ विरोध में धरने पर बैठ गए. इसके बाद पुलिस के अफसर उन्हें काले स्कॉर्पियो में बिठाकर कहीं और ले चले गए। 


युवती की मौत के बाद दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के बाहर लोगों ने जमकर विरोध-प्रदर्शन किया और दोषियों को फांसाी देने की मांग की. बाद में पुलिस दिल्ली से करीब 200 किलोंमीटर दूर हाथरस के गांव मंगलवार की रात डेडबॉडी लेकर पहुंची. इस दौरान परिजनों और रिश्तेदारों ने डेडबॉडी सौंपने की मांग की ताकि सुबह में उसका पारंपरिक रूप से अंतिम संस्कार किया जा सके, लेकिन पुलिस ने ऐसा नहीं किया और सभी को अलग रखकर रात के अंधेरे में चुपचाप मृतक युवती की लाश जला दी.....................

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें