राजनीति

[politics][bigposts]

स्वास्थ्य

[health][bsummary]

ई-न्यूज पेपर

[e-newspaper][twocolumns]

Bihar Election 2020 :तारीखों का ऐलान, 28 अक्टूबर, 3 और 7 नवंबर को वोटिंग, 10 को रिजल्ट

Bihar Election 2020, बिहार में चुनाव की तारीखों का ऐलान , तीन चरणों में वोटिंग, 28 अक्टूबर, 3 और 7 नवंबर को वोटिंग, 10 नवंबर को रिजल्ट।

6AM NEWS TIMES Lucknow 

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए तारीखों का ऐलान हो गया। बिाहर में इस बार तीन चरणों में विधानसभा चुनाव होंगे। बिहार में विधानसभा चुनाव की शुरुआत 28 अक्टूबर की वोटिंग से शुरू होगी और सात नवंबर को अंतिम चरण की वोटिंग होगी। 10 नवंबर को बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आ जाएंगे। चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि 28 अक्टूबर को पहले चरण की वोटिंग, 3 नवंबर को दूसरे चरण की वोटिंग और 7 नवंबर को तीसरे चरण की वोटिंग होगी। इसके बाद 10 नवंबर को बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे आएंगे। 


 नवंबर में खत्म हो रहा है विधानसभा का कार्यकाल। 

बिहार की 243 सदस्यीय विधानसभा का कार्यकाल 29 नवम्बर को समाप्त होगा। 2015 के विधानासभा चुनाव में नीतीश कुमार की पार्टी जदयू और राजद ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था। मगर करीब दो साल बाद ही नीतीश और लालू की पार्टी का महागठबंधन अलग हो गया और बाद में जदयू और भाजपा ने मिलकर सरकार बना ली थी। 

_________________________________________________

बिहार चुनाव का कार्यक्रम। 

पहले चरण का मतदान – 28 अक्टूबर, 

दूसरे चरण का मतदान – 3 नवंबर, 

तीसरे चरण का मतदान – 7 नवंबर, 

बिहार विधआनसभा चुनाव के नतीजे – 10 नवंबर, 

_________________________________________________

तीन चरणों में बिहार चुनाव। 

चुनाव आयोग ने कहा कि बिहार चुनाव तीन चरणों में होंगे। पहले चरण में 16 जिलों की 71 विधानसभा सीटों के लिए वोटिंग होगी। दूसरे चरण में 17 जिलों की 94 विधानसभा सीटों के लिए वोटिंग और तीसरे चरण में 15 जिलों की 78 विधानसभा सीटों के लिए वोटिंग होगी। चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि सुरक्षा बंदोबस्त और त्योहारों के मद्देनजर बिहार चुनाव के चरण कम किए गए हैं।

_________________________________________________

जरूरत के हिसाब से पोस्टल बैलेट की व्यवस्था। 

चुनाव आयोग ने कहा कि जहां पर जरूरत होगी और मांग की जाएगी, वहां पोस्टल बैलेट की व्यवस्था की जाएगी। चुनाव प्रचार सिर्फ वर्चुअल होगा और नामांकन भी ऑनलाइन भरे जा सकेंगे। इसके अलावे, राजनीतिक दलों को के लिए यह अनिवार्य होगा कि वे वेबसाइट पर कैंडिडेट्स के खिलाफ अपराधिक मामलों की जानकारी दें। कैंडिडेट्स को अखबार में भी इसकी जानकारी देनी होगी। सोशल मीडिया के दुरुपयोग पर कार्रवाई की जाएगी।

_________________________________________________

 डूर-टू-डूर कैंपेन में सिर्फ पांच लोगों को इजाजत। 

चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने साफ कर दिया कि कोरोना की वजह से एक बार में एक साथ पांच से ज्यादा लोग किसी के घर जाकर प्रचार नहीं कर पाएंगे। विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार समेत कुल 5 लोग ही डोर टू डोर कैंपेन में हिस्सा लेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि चुनावी कैंपेन के दौरान पब्लिक गैदरिंग्स में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। 

________________________________________________

चुनाव प्रचार-प्रसार वर्चुअली करना होगा। 

चुनाव आयोग ने बताया कि इस बार पार्टियों और उम्मीदवारों को वर्चुअल चुनाव प्रचार होगा। कोरोना की वजह से बड़ी- बड़ी जनसभाएं नहीं की जा सकेंगी। इसके अलावा, नॉमिनेशन के दौरान किसी भी उम्मीदवार के साथ दो से अधिक गाड़ियां नहीं जा सकतीं।

_________________________________________________

वोटिंग का समय एक घंटा बढ़ा। 

चुनाव आयुक्त अरोड़ा ने कहा कि इस बार वोटिंग का समय बढ़ाया जाएगा। बिहार चुनाव में वोट डालने के लिए एक घंटा अधिक वक्त रखा गया है। यानी सुबह सात से शाम 6 बजे तक मतदान होगा। हालांकि, नक्सल प्रभावित इलाकों में ऐसा नहीं होगा। इसके अलावा, कोरोना मरीज अंतिम के घंटे में वोट डाल पाएंगे

_________________________________________________

चुनाव में सुरक्षा मानकों का रखा जाएगा ख्याल। 

चुनाव आयुक्त अरोड़ा ने कहा कि कोरोना को देखते हुए 6 लाख पीपीई किट राज्य चुनाव आयोग को दी जाएंगी। इसके अलावा, चुनाव के दौरान 46 लाख से अधिक मास्क, साथ लाख हैंडि सैनिटाइजर का इस्तेमाल किया जाएगा। 

 _________________________________________________

एक बूथ पर एक हजार मतदाता। 

 मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि कोरोना के चलते नए सुरक्षा मानकों के तहत चुनाव होंगे। पोलिंग बूथ पर मतदाताओं की संख्या घटाई जाएगी। एक बूथ पर एक हजार मतदाता होंगे। साथ ही बिहार चुनाव में इसबार एक लाख से ज्यादा पोलिंग स्टेशन होंगे। उन्होंने कहा कि चुनाव नागरिकों का लोकतांत्रिक अधिकार है। इसलिए चुनाव कराने जरूरी हैं। 

_________________________________________________

कोरोना काल का सबसे बड़ा चुनाव है बिहार चुनाव। 

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि बिहार चुनाव देश के सबसे बड़े राज्यों में है और ये चुनाव कोरोना काल का सबसे बड़ा चुनाव है। इसे लेकर काफी मंथन किया गया। 

________________________________________________

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 को टालने से सुप्रीम कोर्ट का इन्कार। 

सुप्रीम कोर्ट ने बिहार विधानसभा चुनाव को टालने से इनकार कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के मद्देनजर आगामी बिहार विधानसभा चुनाव स्थगित किए जाने का अनुरोध करने वाली याचिका पर सुनवाई करने से शुक्रवार को इनकार कर दिया।

_________________________________________________

बिहार में उपचुनाव भी होंगे। 

चुनाव आयोग 15 राज्यों में एक लोकसभा सीट और 64 विधानसभा सीटों पर उप चुनाव की घोषणा भी कर सकता है। बिहार में वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट पर उप चुनाव होना है। वहीं 64 विधानसभा सीटों में मध्य प्रदेश की 27 सीटें शामिल हैं, जहां उप चुनाव होना है। इन 27 सीटों में से अधिकतर कांग्रेस के बागी सदस्यों के पार्टी तथा विधानसभा से इस्तीफा देने और भाजपा में शामिल होने के बाद खाली हुईं थीं।

चुनाव आयोग की गाइडलाइन्स। 

कोरोना संक्रमण के खतरों से बचने के लिए इस बाच चुनाव में हर मतदाता के वोट डालने के बाद ईवीएम को सैनिटाइज किया जाएगा। सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क के साथ मतदान कराया जाएगा। इसके लिए चुनाव आयोग ने गाइडलाइन्स भी जारी की हैं।

चुनाव आयोग की तरफ से गाइडलाइन के मुताबिक, विधानसभा चुनाव के लिए जहां एक तरफ ऑनलाइन नामांकन भरने होंगे तो वहीं और भी कई नियमों का कड़ाई से पालन करना होगा।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें